बच्चों को 1 मुर्गा-10 मुर्गी देगी सरकार! बनाया है ये खास प्लान

इस योजना के अनुसार, फिलहाल काम दाहोद जिले की पांच तहसीलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है। यहां से कई कुपोषित बच्चों को चिन्हित किया गया है। इन सभी को 1-1 मुर्गा और 10-10 मुर्गियां प्रदान की जाएंगी।

नई दिल्ली: गुजरात की विजय रूपानी सरकार ने बच्चों के शरीर से कुपोषण निकालकर उन्हें ताकतवर बनाने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। गुजरात सरकार ने इसके लिए अब बच्चों को अंडे खिलाकर ताकतवर बनाने के लिए सरकार की ओर से 1 मुर्गा और 10 मुर्गियां देने जा रही है। फिलहाल अभी इसको पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया जा रहा है।

सिर्फ यहां लागू होगी ये स्कीम

इस योजना के अनुसार, फिलहाल काम दाहोद जिले की पांच तहसीलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है। यहां से कई कुपोषित बच्चों को चिन्हित किया गया है। इन सभी को 1-1 मुर्गा और 10-10 मुर्गियां प्रदान की जाएंगी। यदि नतीजा अच्छा रहा तो पूरे जिले में इसे लागू किया जाएगा। आपको बता दें कि दाहोद गुजरात का आदिवासी बहुल जिला है। यहां बड़ी तादाद में लोग आस्था-धार्मिक विश्वास और जीवनशैली के कारण मांसाहार-शराब से दूर रहते हैं।

कुपोषित बच्चों के लिए लिया गया ये फैसला

यहां पर मांसाहारी और शाकाहारी यानी हर परिवार के कुपोषित बच्चों को इस योजना के तहत चुना गया है। कुपोषित बच्चों को कड़कनाथ प्रजाति के मुर्गी-मुर्गे दिए जा रहे हैं। आपको बता दें कि कड़कनाथ मुर्गी का जीवन काल 6 से 8 माह का होता है। ये मुर्गियां हर 2 से 3 दिन के अंतराल पर अंडे देती हैं। ये मुर्गियों एक माह में 15 से 20 अंडे दे देती हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App