बच्चे बचाएंगे कोरोना से, नहीं यकीन तो देख लें ये वीडियो

इन हालात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील महत्वपूर्ण है। बच्चे बड़ों को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। मोदी की लक्ष्मण रेखा इतनी ही महत्वपूर्ण है जितनी माता सीता के लिए लक्ष्मण रेखा थी। यदि आप ने लक्ष्मण रेखा पार नहीं की तो आप सुरक्षित हैं। समाज सुरक्षित है। लेकिन घर से बाहर निकलते ही आप खुद, आपका परिवार और समाज असुरक्षा के दायरे में आ जाता है। इसलिए घर में रहें और महफूज रहें खुद को, अपने परिवार को और समाज को। 

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉक डाउन को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए अब बच्चों को कोरोना से बचाने की जिम्मेदारी सौंपी है। उन्होंने बच्चों से कहा है कि बड़ों को घर से निकलने से रोकने के लिए वह आगे आएं। गौरतलब है कि देश में लॉक डाउन के बावजूद कोरोना के पाजिटिव मरीजों की संख्या साढ़े छह सौ का आंकड़ा पार कर गई है और अब तक 16 मौतें हो चुकी हैं।

लगातार खबरें आ रही हैं कि लोग लॉक डाउन का उल्लंघन कर सड़कों पर आ रहे हैं। दुकानों में भी ड़ लगा रहे हैं। जबकि खुद को कोरोना से महफूज रखने के लिए लोगों को कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर चलना चाहिए। लेकिन मोहल्लों और कालोनियों में लोग भीड़ वाली जगह पर इकट्ठा होकर पंचायत करने लग जा रहे हैं जिससे कोरोना संक्रमण की आशंका बढ़ती जा रही है।  इन स्थितियों को देखते हुए मोदी की बच्चों से की गई भावनात्मक अपील महत्वपूर्ण है।

पान पान मसाला न खाएं न खाने दें

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने भी लोगों की थूक से कोरोना वायरस फैलने की आशंका के मद्देनजर पान, पान मसाले तंबाकू उत्पादों पर प्रतिबंध लगा दिया है। लेकिन कोरोना के खतरे को नजरअंदाज कर तंबाकू उत्पादों को चोरी छिपे बेच रहे दुकानदारों से लोग खरीद रहे हैं, इससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है।

इन हालात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील महत्वपूर्ण है। बच्चे बड़ों को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। मोदी की लक्ष्मण रेखा इतनी ही महत्वपूर्ण है जितनी माता सीता के लिए लक्ष्मण रेखा थी। यदि आप ने लक्ष्मण रेखा पार नहीं की तो आप सुरक्षित हैं। समाज सुरक्षित है। लेकिन घर से बाहर निकलते ही आप खुद, आपका परिवार और समाज असुरक्षा के दायरे में आ जाता है। इसलिए घर में रहें और महफूज रहें खुद को, अपने परिवार को और समाज को।