भीषण गर्मी का कहर: चुरू में पारा 50 डिग्री पर पहुंचा, दिल्ली-हरियाणा में टूटा रिकॉर्ड

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच गर्मी के बढ़ते कहर ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। पूरा उत्तर भारत प्रचंड गर्मी और लू की चपेट में है और सूरज से बरसती आग से लोग गरम थपेड़े सहने को मजबूर हैं।

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच गर्मी के बढ़ते कहर ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। पूरा उत्तर भारत प्रचंड गर्मी और लू की चपेट में है और सूरज से बरसती आग से लोग गरम थपेड़े सहने को मजबूर हैं। दिल्ली और हरियाणा में गर्मी ने 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। राजस्थान के चूरू में दिन का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिछले 10 साल के दौरान मई महीने में यह दूसरा मौका था जब यहां इतना अधिक तापमान दर्ज किया गया। राजधानी दिल्ली में लोग भीषण गर्मी के कारण पसीने से तरबतर रहे। मौसम के जानकारों का कहना है कि अगले दो-तीन दिनों तक गर्मी इसी तरह सितम ढाती रहेगी।

2010 के बाद दिल्ली में सबसे गर्म दिन

राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन लू का जबर्दस्त प्रकोप रहा। राजधानी के पालम इलाके में तापमान 47.6 दर्ज किया गया। इससे पहले 18 मई 2010 को इतना तापमान रिकॉर्ड किया गया था। कोरोना संकट के कारण लोग वैसे भी बाहर कम से कम निकल रहे हैं मगर भीषण गर्मी ने उन्हें घरों में दुबके रहने पर मजबूर कर दिया है। मौसम विभाग का कहना है कि वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते गुरुवार को दिल्ली में तेज हवाएं चल सकती हैं।

यह भी पढ़ें…भोले के भक्तों के लिए खुशखबरी, अब ऐसे सिर्फ 1 दिन में पूरी होगी मानसरोवर यात्रा

उत्तर प्रदेश में बांदा सबसे गर्म रहा

उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में भी भीषण गर्मी का प्रकोप दिख रहा है। उत्तर प्रदेश में बांदा सबसे ज्यादा गर्म रहा जहां तापमान 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रयागराज के लोगों को भी भीषण गर्मी झेलनी पड़ रही है और यहां तापमान 47.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राज्य के अन्य महानगरों लखनऊ, आगरा, वाराणसी, मेरठ, गाजियाबाद आदि में भी भीषण गर्मी का प्रकोप दिखा। पूर्वांचल के विभिन्न जिलों में भी भीषण गर्मी के कारण जनजीवन पर असर पड़ा।

राजस्थान में भीषण गर्मी का कहर

राजस्थान में चूरू देश में सबसे ज्यादा गर्म रहा। यहां तापमान 50 डिग्री दर्ज किया गया। गर्मी के सीजन में पिछले 4 साल के दौरान तीसरी बार चूरू में पारा रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा है। यहां 2 जून 2019 को पारा 50.8 और 19 मई 2016 को 50.2 डिग्री दर्ज किया गया था। राज्य के जयपुर सहित सात शहरों में दिन का तापमान 45 डिग्री के पार दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें…जानिए ट्विटर ने अमेरिकी राष्ट्रपति को क्यों दी चेतावनी, ट्रंप हुए आगबबूला

हरियाणा में टूटा 10 साल का रिकॉर्ड

हरियाणा में भी गर्मी ने 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। मंगलवार को हिसार में पारा 48 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह मई महीने में 10 साल का रिकॉर्ड तापमान है। इससे पहले 26 मई 2010 को 48.1 तापमान रहा था। राज्य के विभिन्न जिलों में भीषण गर्मी के साथ लू के थपेड़े चल रहे हैं।

मध्यप्रदेश में चल रहे लू के थपेड़े

मध्यप्रदेश में लगातार तीसरे दिन पारा 44 डिग्री पर रहा। राज्य के उज्जैन, इंदौर और धार जिलों को छोड़कर पूरे प्रदेश में लोग भीषण गर्मी से बेहाल रहे। खजुराहो प्रदेश में सबसे गर्म रहा जहां तापमान 46.4 डिग्री दर्ज किया गया। दमोह में पारा 45.5 डिग्री और टीकमगढ़ में 45 डिग्री पर रहा। विंध्य क्षेत्र में रीवा सबसे ज्यादा गर्म रहा और वहां तापमान 45.8 डिग्री दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें…लद्दाख में तनाव: चीन को मिलेगा तगड़ा जवाब, सेनाओं ने PM मोदी को सौंपी रिपोर्ट

बिहार का हाल भी बेहाल

बिहार के विभिन्न जिलों में भीषण गर्मी का कहर दिखा। यहां पटना में तापमान 40.8और गया में 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बिहार के अधिकतर जिलों में अगले दो दिनों तक गर्मी का प्रकोप रहने के आसार हैं। इस बीच मौसम विभाग ने असम व मेघालय में भारी बारिश की चेतावनी दी है।