×

इसे कहते हैं बेशर्मी की हाईट! हत्यारे गोडसे को अपनी विरासत बता रहे हैं ये

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 9 Oct 2017 4:28 PM GMT

इसे कहते हैं बेशर्मी की हाईट! हत्यारे गोडसे को अपनी विरासत बता रहे हैं ये
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने बीजेपी और आरएसएस पर आरोप लगाया है कि वह गोडसे को किनारे कर महात्मा गांधी से संबंधित सारा क्रेडिट खुद लेना चाहती है। जबकि नाथूराम गोडसे का हिंदू महासभा से अभिन्न रिश्ता था।

ये भी देखें: SC में महात्मा गांधी मर्डर में दोबारा जांच की मांग, एमिकस क्यूरी अप्वाइंट

अशोक शर्मा ने कहा कि सब जानते हैं कि हिंदू महासभा के नाथूराम गोडसे ने ही बापू की हत्या की थी। यह हमारी विरासत है। बीजेपी और आरएसएस इसे हमसे नहीं छीन सकती है। उसे तो हिंदू महासभा का विचार अपनाने के लिए आभारी होना चाहिए। बापू की हत्या में चौथी गोली की बात कर दोनों सगठन संशय पैदा कर रहे हैं। ऐसे में उनके चेहरे पर से मुखौटे हटाने का वक्त आ गया है। नाथूराम गोडसे का हिंदू महासभा से अभिन्न रिश्ता था। अब बीजेपी और आरएसएस गोडसे को किनारे कर महात्मा गांधी से संबंधित सारा क्रेडिट खुद लेना चाहती है। उन्हें पता है कि गोडसे को हटाकर महासभा अधिकारहीन हो जाएगी। हम ऐसा नहीं होने देंगे।'

ये भी देखें:हिंदू महासभा ने मनाई नाथूराम गोडसे की जयंती, कहा- मंदिर जरुर बनवाएंगे

महासभा न्यायालय से अपील करेगी की गांधी वध की अगर जांच करनी है तो गांधी वध के बाद जवाहर लाल नेहरु के पैरों में लेट कर अपनी जान बचाने वाले लोग जो आज भाजपा कहे जाते हैं इनकी भी जांच होनी चाहिये।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story