तूफान से सतर्क: तेजी से फैला रहा अपना खौफ, खाली कराए गए सहमे इलाके

देश में गुजरात में तूफान का खतरा बहुत तेजी से अपने कदम पसार रहा है। गुजरात के तटीय इलाके की तरफ से ये तूफान तेजी से बढ़ रहा है। इस अरब सागर से उठने वाले चक्रवाती तूफान का नाम महा रखा गया है।

तूफान से सतर्क: तेजी से फैला रहा अपना खौफ, खाली कराए गए सहमे इलाके

तूफान से सतर्क: तेजी से फैला रहा अपना खौफ, खाली कराए गए सहमे इलाके

नई दिल्ली : देश में गुजरात में तूफान का खतरा बहुत तेजी से अपने कदम पसार रहा है। गुजरात के तटीय इलाके की तरफ से ये तूफान तेजी से बढ़ रहा है। इस अरब सागर से उठने वाले चक्रवाती तूफान का नाम महा रखा गया है। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में भी एक और नया चक्रवाती तूफान का बुलबुल बनता हुआ दिखाई दे रहा है। जोकि बहुत खराब संकेत हैं। बता दें कि बुलबुल इस साल का सांतवा चक्रवाती तूफान होगा।

यह भी देखें… 200 स्कूलों और कालेजों में होगा सड़क सुरक्षा क्लब का गठन

अलर्ट जारी किया गया

गुजरात में आ रहा चक्रवाती तूफान महा धीरे-धीरे और शक्तिशाली होता जा रहा है। तूफान की इस जानकारी से गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके साथ ही तटीय इलाकों में मछुआरों को समुद्र में ना उतरने की सलाह भी दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवाती तूफान ‘महा’ के कारण उत्तर कोंकण और गुजरात में आंधी के साथ तेज बारिश होने की संभावना है।

तेज हवाओं और भारी बारिश

मौसम विभाग का कहना है कि 6 नवंबर की रात या 7 नवंबर की सुबह चक्रवात ‘महा’ गुजरात के पोरबंदर और दीव के बीच समुद्री तट से टकरा सकता है। इस दौरन वहां 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

यह भी देखें… राजस्थान पुलिस ने दिल्ली पुलिस के समर्थन में निकाला मार्च

गुजरात में तेज हवाओं के साथ-साथ ही तटीय इलाकों में भारी बारिश की आशंका भी जताई जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह अधिकारियों के साथ बैठक की और चक्रवात ‘महा’ की स्थिति के साथ उससे निपटने के लिए तैयारियों का जायजा भी लिया।

ये तूफान देश के पूर्वी तटों को प्रभावित करने वाला है। लेकिन इसके हिट करने की लोकेशन का अभी सटीक अंदाज़ा नहीं लगाया जा सकता है। हालांकि अधिक संभावना ओडिशा या उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटीय भागों पर इसके लैंडफॉल के संकेत अभी मिल रहे हैं।

यह भी देखें… पावर कॉर्पोरेशन पीएफ घोटाले के विरोध में बिजली कर्मियों का प्रदेशव्यापी आंदोलन