घुटनों के नीचे कुर्ती! लड़कियों पर ऐसा फरमान, जिसे सुन हर कोई रह गया दंग

लड़कियों के कपड़ो को लेकर लोगों की मानसिकता क्या है ये हमे हमेशा ही सुनने को मिलता है। ऐसा ही एक मामला हैदराबाद की यूनिवर्सिटी में देखने को मिला है। शिक्षा के मंदिर में इस तरह की सोच को पैदा करना समाज की मानसिकता को दर्शाता है।

घुटनों के नीचे कुर्ती! लड़कियों पर ऐसा फरमान, जिसे सुन हर कोई रह गया दंग

नई दिल्ली : लड़कियों के कपड़ो को लेकर लोगों की मानसिकता क्या है ये हमे हमेशा ही सुनने को मिलता है। ऐसा ही एक मामला हैदराबाद की यूनिवर्सिटी में देखने को मिला है। शिक्षा के मंदिर में इस तरह की सोच को पैदा करना समाज की मानसिकता को दर्शाता है। आपको बता दें कि इस यूनिवर्सिटी में लड़कियों के कपड़े को लेकर नियम बनाया गया है। जिसके तहत लड़कियों को छोटे कपड़े पहनने पर रोक लगाई गई है।

यह भी देखें… मिड-डे मील में बड़ा हादसा, छात्र समेत 5 लोग बुरी तरह से झुलसे

लड़कियों को क्या पहनना है

लड़कियों को क्या पहनना है क्या नहीं, इसका फैसला करने वाले दूसरे लोग कौन होते हैं। बात करते हैं हम आजादी की, तो इस आजादी के हक में लड़कियां शामिल नहीं है? छोटे कपड़े पहनने पर समाज में उन्हें अजीब सी निगाहों से देखा जाता है मानों कोई जुल्म कर दिया हो।

शादी के लिए लड़के ऐसी लड़कियों को ज्यादा पसन्द करते हैं जो पूरे कपड़े पहनती हो, जो लंबे-लंबे कुर्तों से अपने आप को ढक कर रखती हो। लेकिन आज के जमाने में ऐसी लड़कियों की बहुत कमी है।

हैदराबाद के फेसम कॉलेज

हैदराबाद के बहुत प्रतिष्ठित और फेसम कॉलेज सेंट फ्रांसिस कॉलेज फॉर वुमेन जिसका कहना है कि अच्‍छी शादी के काबिल बनने के लिए लड़कियों को घुटनें और उससे नीचे तक की लंबाई के कुर्ते पहनने चाहिए।

समाज में लड़कियों के कपड़ो पर तरह-तरह के नियम कानून बनाए जाते हैं लेकिन उन पर हो रहे अपराधों में तो कोई कमी नहीं आई है। लड़कियां जींस न पहने, कपड़ों के आस्तीन को लेकर बातें, स्कर्ट को लंबा करने पर आग्रह किया जाता है क्योंकि लोगों का कहना है कि इससे लड़कों पर बुरा प्रभाव पड़ता है वो आकर्षित हो जाते है। अगर यहीं बात सच है तो क्यों हो रहे 3 साल की बच्ची के साथ दुश्कर्म।

यह भी देखें…  तेल संकट को लेकर अरामको के अधिकारियों से की बात: धर्मेंद्र प्रधान

ऐसा ही एक मामला सामने आया है हैदराबाद के एक कॉलेज का। यहां के इस कॉलेज में लड़कियों के छोटे, बिना आस्‍तीन वाले कुर्ते पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया। इस कॉलेज का नाम है सेंट फ्रांसिस कॉलेज फॉर वूमेन।

कुर्ती पहनने से शादी के रिश्ते

यहां लड़कियों पर घुटनों से ऊपर पहनी जाने वाली कुर्ती पर बैन लगा दिया है। कॉलेज का कहना है कि लंबी कुर्ती पहनने से शादी के रिश्ते ज्यादा आएंगे। इस पूरे मामले में कॉलेज के स्टूडेंट्स ने हैदराबाद में प्रदर्शन किया। असल कॉलेज ने स्टूडेंट्स के लिए एक ड्रेस कोड तय किया है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक स्टूडेंट्स को यह आदेश दिया गया है कि वह घुटनों के नीचे तक की कुर्ती, स्लीव के साथ पहनें। इसके अलावा शार्ट्स, स्लीवलेस और इस तरह की बाकी ड्रेसों पर बैन लगा दिया गया है।

इस वजह से कई स्टूडेंट्स को कथित तौर पर कक्षाओं में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई क्योंकि उनके कपड़े नियमों के मुताबिक नहीं थे। उन्हें बाहर खड़े रहने के लिए कहा गया और वह कक्षाओं और टेस्ट में शामिल नहीं हो सकीं। जिससे उनकी पढ़ाई का नुकसान सिर्फ कपड़ों की वजह से हो रहा है।

यह भी देखें… राउज एवेन्यू कोर्ट में 2 दिसंबर को होगी IRCTC घोटाला मामले की सुनवाई