हैदराबाद मर्डर केस: 14 दिन की रिमांड पर भेजे गए चारों आरोपी

दिल्ली के निर्भया कांड जैसी हैवानियत के मामले से नाराज लोगों को गुस्सा शनिवार को फूट पड़ा। लोगों ने शादनगर पुलिस थाने के जमा होकर प्रदर्शन किया।

Published by Aditya Mishra Published: November 30, 2019 | 5:26 pm
Modified: November 30, 2019 | 5:39 pm

हैदराबाद: तेलंगाना में एक वेटनरी डॉक्टर के रेप के बाद हत्या के मामले में चारों आरोपियों को कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इन आरोपियों ने महिला डॉक्टर को किडनैप कर उसके साथ गैंगरेप किया था और हत्या करने के बाद शव पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी।

दिल्ली के निर्भया कांड जैसी हैवानियत के मामले से नाराज लोगों को गुस्सा शनिवार को फूट पड़ा। लोगों ने शादनगर पुलिस थाने के जमा होकर प्रदर्शन किया। वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग के सदस्य भी पीड़िता के घर उनसे मिलने के लिए गये हुए थे। उन्होंने महिला पशु चिकित्सक के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है।

वहीं तेलंगाना की राज्यपाल डॉ. तमिलिसै सौंदरराजन जन शनिवार को पीड़िता के परिवार से मुलाकात की और उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। उधर सरकारी स्कूलों के छात्रों ने आज दिन में हैदराबाद-बंगलूरू हाईवे जाम किया था।  इस घटना को लेकर पूरे देश में उबाल है। सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोग अपना आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं।

 

ये भी पढ़ें…हैदराबाद गैंगरेप मर्डर पर राजनीति, तेलंगाना के गृहमंत्री का आया विवादित बयान

संसद के बाहर दिल्ली की बेटी ने दिया धरना

हैदराबाद की इस घटना से आहत दिल्ली की एक लड़की ने शनिवार सुबह सात बजे संसद के बाहर महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रदर्शन किया। हालांकि उसके कुछ ही देर बाद दिल्ली पुलिस अनु दुबे को वहां से जबरन उठाकर संसद थाने में ले गई और लगभग चार घंटे तक वहां रखा।

अब पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया है और अब वह कह रही हैं कि ये सिर्फ हैदराबाद वाले मामले के खिलाफ नहीं है बल्कि दुष्कर्म के सभी मामलों के खिलाफ और महिला सुरक्षा के लिए प्रदर्शन है।

ये भी पढ़ें…यूपी में नाबालिग लड़की से दरिंदगी, रेप के बाद पड़ोसी ने जो किया सुन कांप जाएगी रूह

ये है पूरा मामला

हैदराबाद: तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में 27 साल की एक महिला डॉक्टर के साथ रेप करने के बाद ज़िंदा जलाने की घटना सामने आई थी। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है।

घटना हैदराबाद के आउट स्कर्ट्स में उस वक्त घटी, जब डॉ. प्रियंका रेड्डी उनकी स्कूटी पंक्चर हो गई थी। पुलिस ने कुल चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। लॉरी ड्राइवरों के साथ क्लीनरों ने प्रियंका रेड्डी की गैंगरेप के बाद उसकी हत्या की।

मोहम्मद पाशा नामक व्यक्ति (नारायणपेट) के इस मामले में मुख्य सूत्रधार होने का पता चला है। तोंडुपल्ली टोलप्लाजा के पिछले हिस्से में खुली जगह पर प्रियंका का गैंगरेप कर बाद में उसकी हत्या की गई है।

आरोपी महबूबनगर और रंगारेड्डी जिले के रहने वाले हैं। प्रियंका रेड्डी की लाश के पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक आरोपियों ने प्रियंका की लाश को पहले चादर में लिपटा और बाद में उसपर केरोसिन छिड़क कर आग लगा दी।

प्रियंका की हत्या के बाद शव को घटनास्थल से करीब 30 किलो मीटर दूर ले जाया गया। पुलिस का कहना है कि बुधवार रात 9.30 बजे से गुरुवार तड़के 4 बजे तक आरोपियों ने प्रियंका को अपने हवस का शिकार बनाया और आखिर में उसकी हत्या कर दी।

 

ये भी पढ़ें…उन्नाव रेप केस: बड़ा झटका, कुलदीप सिंह सेंगर के भाई का हुआ निधन