×

ग्लोबल इंवेस्टर्स मीटः दुनिया के निवेशकों व उद्योगपतियों से मिलेंगे, करेंगे बात मोदी

दुनिया को आर्थिक संकट से उबारने और चीन की व्यापारिक विस्तारवादी से निपटने में भारत की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। ग्लोबल ग्लोबल इंवेस्टर राउंडटेबल का आयोजन केंद्रीय वित्त मंत्रालय और राष्ट्रीय निवेश एवं इंफ्रास्ट्रक्चर फंड (राष्ट्रीय निवेश और अवसंरचना कोष) ने मिल कर किया है।

Newstrack
Published on: 5 Nov 2020 4:46 AM GMT
ग्लोबल इंवेस्टर्स मीटः दुनिया के निवेशकों व उद्योगपतियों से मिलेंगे, करेंगे बात मोदी
X
ग्लोबल इंवेस्टर्स मीटः दुनिया के निवेशकों व उद्योगपतियों से मिलेंगे, करेंगे बात मोदी (photo by social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वर्चुअल ग्लोबल इंवेस्टर राउंडटेबल समिट की अध्यक्षता करेंगे। इस बैठक में पूरी दुनिया के उद्योगपति और निवेशक हिस्सा लेंगे। कोरोना महामारी और उससे उपजे आर्थिक संकट के परिप्रेक्ष्य में ये बैठक अत्यंत महत्वपूर्ण है। वीडियो कांफ्रेन्स के जरिये होने वाली इस बैठक में अमेरिका, यूरोप, कनाडा, कोरिया जैसे देशों के 20 शीर्ष संस्थागत निवेशक यानी इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर कंपनियों के प्रमुख शामिल होंगे। इनकी हैसियत 6 ट्रिलियन डालर से अधिक की आंकी गयी है। यह भारत की इकॉनमी से दो गुना से भी ज्यादा है। भारत की इकॉनमी का आकार 200 लाख करोड़ रुपये था। हालांकि कोरोना के कारण इस साल इसमें काफी कमी आनी की आशंका है।

ये भी पढ़ें:J-K: आज जम्मू दौरे पर रहेंगी पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती, पार्टी नेताओं से करेंगी मुलाकात

इस राउंडटेबल भारत की ओर से शामिल होने वालों में रतन टाटा, मुकेश अंबानी, नंदन नीलेकणि और उदय कोटक जैसे उद्योगपति भी हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने दुनिया की दिग्गज तेल एवं गैस कंपनियों के सीईओ के साथ चर्चा की थी। उस बैठक में प्रमुख तेल एवं गैस कंपनियों के करीब 45 सीईओ शामिल हुए थे।

भारत पर जिम्मेदारी

दुनिया को आर्थिक संकट से उबारने और चीन की व्यापारिक विस्तारवादी से निपटने में भारत की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। ग्लोबल ग्लोबल इंवेस्टर राउंडटेबल का आयोजन केंद्रीय वित्त मंत्रालय और राष्ट्रीय निवेश एवं इंफ्रास्ट्रक्चर फंड (राष्ट्रीय निवेश और अवसंरचना कोष) ने मिल कर किया है। ये वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय व्यापार जगत के प्रमुखों और भारत सरकार तथा वित्तीय बाजार नियामकों के शीर्ष नीति-निर्माताओं के बीच एक खास बैठक है।

बैठक के अजेंडा के अनुसार इसमें केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री, भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर सहित सरकार और प्राइवेट सेक्टर के कई प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। एक महत्वपूर्ण बात ये है कि कई निवेशक तो पहली बार भारत सरकार के साथ बातचीत करेंगे। उनको भारत की संभावनाओं के बारे में पहली बार शीर्ष नीतिनियोजकों से रूबरू होने का मौक़ा मिलेगा। ये वैश्विक संस्थागत निवेशक यूएस, यूरोप, कनाडा, कोरिया, जापान, मध्य पूर्व, ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर सहित प्रमुख जगहों से हैं। उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक से भारत में निवेश बढ़ाने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें:अर्नब की गिरफ्तारी पर सियासतः योगी सरकार पर हमला, ओपी राजभर के सवाल

निवेश से विकास में आएगी तेजी

वर्चुअल ग्लोबल इन्वेस्टर राउंडटेबल 2020 में भारत के आर्थिक और निवेश के दृष्टिकोण, संरचनात्मक सुधारों और 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बनाने की राह के बारे में मोदी सरकार के दृष्टिकोण पर चर्चा की जाएगी। यह आयोजन भारत में अंतरराष्ट्रीय निवेश के विकास में और तेजी लाने के लिए वैश्विक निवेशकों और भारतीय व्यापार जगत के प्रमुखों को वरिष्ठ नीति-निर्माताओं के साथ जुड़ने और विचार-विमर्श करने का मौका मिलेगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story