शशिकला के परिजनों, सहयोगियों के ठिकानों पर लगातार तीसरे दिन छापेमारी

आयकर (आईटी) विभाग के अधिकारियों ने काले धन के खिलाफ कार्रवाई के तहत शनिवार को लगातार तीसरे दिन ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की नेता वी.के.शशिकला के परिजनों, उनके कारोबारी सहयोगियों और उनसे संबंधित संगठनों के परिसरों पर छापेमारी जारी रखी।

Published by tiwarishalini Published: November 11, 2017 | 2:31 pm
Modified: November 11, 2017 | 2:53 pm

चेन्नई : आयकर (आईटी) विभाग के अधिकारियों ने काले धन के खिलाफ कार्रवाई के तहत शनिवार को लगातार तीसरे दिन ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की नेता वी.के.शशिकला के परिजनों, उनके कारोबारी सहयोगियों और उनसे संबंधित संगठनों के परिसरों पर छापेमारी जारी रखी। आयकर विभाग के अधिकारियों ने लगातार तीसरे दिन भी कई परिसरों में छापेमारी जारी रखी।

एक आयकर अधिकारी ने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर शुक्रवार को आईएएनएस को बताया था, “जिन परिसरों की तलाशी ली गई हैं, वहां से बड़ी मात्रा में नकदी और दस्तावेज बरामद किए गए हैं। तलाशी अभियान अभी जारी है।”

अधिकारी ने बताया, “छापेमारी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही इस नकदी और दस्तावेजों की मात्रा और संख्या के बारे में खुलासा किया जाएगा।” उन्होंने इनमें से एक ठिकाने से बड़ी मात्रा में सोना जब्त करने की खबरों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें … शशिकला, दिनाकरन के रिलेटिव्स के ठिकानों पर आयकर का छापा  

रिपोर्टों के मुताबिक, इस अभियान के तहत कुछ परिसरों के अप्रत्याशित क्षेत्रों से सोना और कीमती सामान बरामद किया गया है। आयकर अधिकारियों का कहना है कि कई स्थानों पर तलाशी अभियान पूरा हो गया है जबकि अन्य स्थानों पर जारी है।

इन तलाशी अभियानों का उद्देश्य कर की चोरी का पता लगाना है। अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “जब्त किए गए दस्तावेजों के विश्लेषण और इन पर स्पष्टीकरण के बाद कर की मांग उठाई जाएगी और यदि संबंधित पक्ष जुर्माने सहित कर का भुगतान कर देता है तो मामले को कर चोरी से संबंधित अन्य मुद्दों के आदार पर बंद कर दिया जाएगा।

ये छापेमारी नोटबंदी के बाद फर्जी कंपनियों के जरिए काले धन को ठिकाने लगाने के संबंध में की जा रही है और ये फर्जी कंपनियां कथित रूप से शशिकला और दिनाकरन से जुड़ी हुई हैं।

आयकर विभाग के अधिकारी के मुताबिक, इस तलाशी अभियान का स्वरूप अलग है और यह सिर्फ परिसरों की तलाशी और बेहिसाबी नकदी को जब्त करने तक ही सीमित नहीं है।

यह भी पढ़ें … शशिकला की सजा बहाल करने के आदेश के खिलाफ याचिका खारिज

उन्होंने कहा, “हमारे पास फर्जी कंपनियों की सूचना थी और इस संबंध में तलाशी की जा रही है।” जब्त किए गए दस्तावेजों से आंकड़े जुटाने के बाद तय किया जाएगा कि जिन लोगों और कंपनियों पर छापेमारी की गई है उनके संदिग्ध लेनदेन और अन्य गतिविधियों का पता लगाने के लिए उनके बैंक खाते फ्रीज किए जाएं या नहीं।

गौरतलब है कि गुरुवार को लगभग 1,800 आईटी अधिकारियों की टीम ने 187 परिसरों एवं आवासों और फार्म हाउस की तलाशी ली। जिन स्थानों पर छापेमारी की गई, उसमें तंजावुर में शशिकला के पति एम.नटराजनका आवास, तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे. जयललिता का कोडनाड टी एस्टेट, जैज सिनेमाज, मिडास डिस्टिलरीज, शारदा पेपर एंड बोर्डस, सेंथिल ग्रुप ऑफ कंपनीज, कोयंबटूर में नीलगिरी फर्नीचर, जया टीवी, नामाधु एमजीआर और तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, हैदराबाद और बेंगलुरु में कई अन्य परिसर शामिल हैं।

–आईएएनएस

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App