भारत को मिली वैक्सीन: नए साल में मिली खुशखबरी, इस्तेमाल की दी गई मंजूरी

सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की मीटिंग में वैक्सीन के इस्तेमाल को इजाजत दी गई है। बता दें कि भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बना रहा है।

Published by Shreya Published: January 1, 2021 | 6:12 pm
covid-19 vaccine

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद किन-किन बातों का ध्यान रखना है? यहां जानें सबकुछ (फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: नए साल (New Year 2021) के मौके पर देशवासियों को बड़ी खुशखबरी मिली है। दरअसल, साल के पहले दिन ऑक्सफोर्ड एस्ट्रेजेनेका की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) के आपात इस्तेमाल (Emergency use) को मंजूरी दे दी गई है। न्यू ईयर के अवसर पर सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की मीटिंग में वैक्सीन के इस्तेमाल को इजाजत दी गई है। बता दें कि भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बना रहा है।

सीरम की कोविशील्ड को मिली आपात इस्तेमाल की मंजूरी

मीडिया रिपोर्ट में सरकार के शीर्ष सूत्रों के मुताबिक लिखा गया है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की कोविशील्ड को पैनल से मंजूरी के लिए सिफारिश मिल गई है। लेकिन अभी DCGI द्वारा इस पर अंतिम फैसला लिया जाना है। कोरोना वैक्सीन को लेकर सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की बैठक में फाइजर, भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट को बारी बारी अपना प्रेजेंटेशन देना था। इस बैठक में जायडस कैडिला भी शामिल हुई।

यह भी पढ़ें: कृषि कानूनों के विरोध में भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री के घर गोबर फेंका, पुलिस मौके पर

corona vaccine
(फोटो- सोशल मीडिया)

मीटिंग में दिखाया जा रहा भारत बायोटेक का प्रेजेंटेशन

सीरम इंस्टीट्यूट का प्रेजेंटेशन पूरा हो चुका है। जिसके बाद सीरम की कोविशील्ड को पैनल से इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे दी गई है। अब इस बैठक में भारत बायोटेक का प्रेजेंटेशन दिखाया जा रहा है। भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन पर चर्चा हो रही है। आखिरी में एक्सपर्ट कमेटी की बैठक में फाइजर का प्रस्तुतीकरण होगा। बता दें कि अब तक कमेटी की दो मीटिंग्स हो चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: कल देश के लिए बड़ा दिन, ड्राई रन पर चलेगी मुहिम, स्वास्थ्य मंत्री भी होंगे शामिल

सरकार ने की वैक्सीनेशन की तैयारियां

बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा वैक्सीनेशन को लेकर पहले से ही तैयारियां की जा रही हैं। जिससे देश को कोरोना मुक्त बनाया जाए। शुरुआत में मुख्यतौर पर तीस करोड़ लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने पर फोकस रखा गया है। इसमें कोरोना वॉरियर्स को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके अलावा 50 की आयु से अधिक उम्र वाले लोग और पहले से किसी बीमार से पीड़ित लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: आंदोलन में पसरा मातम: सीमा पर प्रदर्शनकारी किसान की मौत, ठंड ने ली जान

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App