×

#surgicalstrike2 की पूरी कहानी, मितरों अब सबूत मत मांगना

पुलवामा हमले के बाद से देश में मांग हो रही थी बदले की। तो 26 तारीख की तड़के भारतीय वायुसेना ने वो मांग सिर्फ 1 मिनट 30 सेकेंड में भर दी। आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के कई ठिकानों को तबाह कर दिया गया है। और इस बार हमारे नेताओं को सुबूत मांगने का भी मौका नहीं दिया गया। पाकिस्तान ने ही सबूत दे दिए हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 26 Feb 2019 4:50 AM GMT

#surgicalstrike2 की पूरी कहानी, मितरों अब सबूत मत मांगना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : पुलवामा हमले के बाद से देश में मांग हो रही थी बदले की। तो 26 तारीख की तड़के भारतीय वायुसेना ने वो मांग सिर्फ 1 मिनट 30 सेकेंड में भर दी। आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के कई ठिकानों को तबाह कर दिया गया है। और इस बार हमारे नेताओं को सुबूत मांगने का भी मौका नहीं दिया गया। पाकिस्तान ने ही सबूत दे दिए हैं। फिलहाल आप सिलसिलेवार जानिए कब कहां और कैसे हुआ...

14 फरवरी को पुलवामा में आतंकी हमला हुआ। इसमें 40 से ज्यादा सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए।

15 फरवरी को सुबह 9:30 बजे वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने एयर स्ट्राइक का प्रस्ताव सरकार के सामने रखा।

16 से 20 फरवरी के बीच एयरफोर्स और आर्मी ने हवाई सर्विलांस से देखा कि कहां-कहां आतंकियों के अड्डे हैं।

ये भी देखें :पाकिस्तानी आर्मी का आरोप, भारतीय वायुसेना ने लांघी एलओसी

20 से 22 फरवरी के बीच एयरफोर्स और इंटेलिजेंस ने आतंकी अड्डों को चिन्हित कर लिया।

21 फरवरी को एनएसए अजीत डोवाल को बताया गया कि स्ट्राइक कैसे और कहां होगी।

22 फरवरी को एयरफोर्स 1 स्क्वॉड्रन ‘टाइगर्स’ और 7 स्क्वॉड्रन ‘बैटल एक्सेस’ को स्ट्राइक के लिए तैयार रहने को कहा।

22 फरवरी को 2 मिराज स्क्वॉड्रन्स ने 12 जेट्स तैयार किए।

ये भी देखें :भारत ने लिया पुलवामा का बदला, वायु सेना ने आतंकी कैंपों पर गिराए 1000 KG बम

24 फरवरी को ट्रायल रन हुआ।

25 से 26 फरवरी को रात 3:20 से 3:30 बजे के बीच 12 मिराज विमानों ने उड़ान भरी और 20 से 22 मिनट में अपना काम पूरा कर लिया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story