Top

मारे गए खूंखार आतंकी: 72 घंटों तक जारी ऑपरेशन में कामयाबी, इंटरनेट सेवा बंद

कश्मीर के शोपियां जिले के रावलपोरा में सेना को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। बीते तीन दिन से जारी मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर विलायत लोन उर्फ सज्जाद अफगानी को सेना ने मार गिराया गया। इस बारे में आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने खुद पुष्टि  करते हुए इसे सुरक्षाबलों की बड़ी सफलता करार दिया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 March 2021 7:59 AM GMT

मारे गए खूंखार आतंकी: 72 घंटों तक जारी ऑपरेशन में कामयाबी, इंटरनेट सेवा बंद
X
शोपियां जिले में यह मुठभेड़ रावलपोरा में शनिवार रात को शुरू हुई थी। यहां देर रात गए तक आतंकियों को आत्मसमर्पण करवाने की कोशिशें की गई।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जम्मू: घाटी के शोपियां जिले के रावलपोरा में सेना को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। बीते तीन दिन से जारी मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर विलायत लोन उर्फ सज्जाद अफगानी को सेना ने मार गिराया गया। इस बारे में आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने खुद पुष्टि करते हुए इसे सुरक्षाबलों की बड़ी सफलता करार दिया। कामयाबी पर उन्होंने कहा कि रावलपोरा में 72 घंटों से जारी इस मुठभेड़ में अब तक दो आतंकियों को मार गिराया गया है। फिलहाल ऑपरेशन अभी भी जारी है।

ये भी पढ़ें...किसानों पर बोले राजनाथ सिंह- हम हर बातचीत के लिए तैयार, बरकरार रहेगी MSP

मुठभेड़ शनिवार रात से शुरू

बता दें, इससे पहले बीते रविवार को भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा मार गिराए गए आतंकी की पहचान लश्कर-ए-तैयबा के जहांगीर अहमद वानी पुत्र स्वर्गीय अब्दुल रहमान वानी निवासी रक्ख नारापोरा शोपियां के रूप में हुई है। ऐसे में भारतीय सुरक्षाबलों के अनुसार वह सितंबर 2020 में लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुआ था।

दरअसल शोपियां जिले में यह मुठभेड़ रावलपोरा में शनिवार रात को शुरू हुई थी। यहां देर रात गए तक आतंकियों को आत्मसमर्पण करवाने की कोशिशें की गई। लेकिन आतंकियों की तरफ से आत्मसमर्पण करने से साफ इनकार कर दिया।

indian army फोटो-सोशल मीडिया

ऐसे में इसी बीच रविवार सुबह सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को ढेर कर दिया। ऑपरेशन को अंजाम देते हुए आतंकियों को घर से बाहर निकालने के लिए सुरक्षाबलों ने मकान को उड़ा दिया था, लेकिन अन्य आतंकी वहां से फरार होने में कामयाब रहे।

ये भी पढ़ें...इंदिरा गांधी ने क्यों कराया था महामृत्युंजय जाप, सत्यपाल मलिक के बयान का निहितार्थ

आतंकी के पास से अमेरिका निर्मित राइफल

इसके बाद जब भारतीय सुरक्षाकर्मी आतंकियों का पीछा कर रहे थे तो इस दौरान क्षेत्र में मौजूद कुछ शरारती तत्वों ने उनके अभियान को प्रभावित करने का प्रयास भी किया परंतु सुरक्षाबलों ने उन्हें वहां से खदेड़ दिया। ऐसे में इन मारे गए आतंकी के पास से अमेरिका निर्मित एम-4 राइफल, उसकी तीन मैगजीन, 36 राउंड और करीब 9600 नकदी भी बरामद हुई है।

फिलहाल आतंकी केे मारे जाने के बाद सुरक्षाबलों ने फरार आतंकियों की तलाश जारी रखी। घाटी में ऑपरेशन चल रहा है। जिसमें फिलहाल दोनों तरफ से गोलीबारी का सिलसिला जारी है। वहीं अफवाहों की वजह से अभियान प्रभावित न हो इसलिए शोपियां में फिलहाल अगले आदेश तक इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है।

ये भी पढ़ें...कांशीराम जयंती: बसपा सुप्रीमों मायावती ने उनकी प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, देखें तस्वीरें

Newstrack

Newstrack

Next Story