INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

आईएनएस अरिहंत 3500 किलोमीटर दूर तक मार कर सकेगी। पनडुब्बी से पानी के अंदर और पानी की सतह से परमाणु मिसाइलें दागी जा सकती हैं। यह पनडुब्बी के-15 और के-4 मिसाइलों से लैस होगी। के-15 मिसाइल 750 किलोमीटर तक मार कर सकती है, तो के-4 की क्षमता 3500 किलोमीटर दूर तक मार करने की है।

INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

नई दिल्ली: भारतीय नौसेना ने एक और लंबी छलांग लगाई है। खबर है कि नौसेना में आईएनएस अरिहंत को शामिल कर लिया गया है।अरिहंत देश में बनी पहली परमाणु पनडुब्बी है। इससे जल के अलावा थल और आकाश से भी परमाणु क्षमता से लैस मिसाइलें दागी जा सकती हैं। इससे पहले अमरीका, रूस, फ्रांस, चीन और ब्रिटेन के पास ही यह क्षमता हासिल थी।

आईएनएस अरिहंत
-एक अंग्रेजी अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि आईएनएस अरिहंत को अगस्त 2016 में नौसेना में शामिल किया गया।
-हालांकि रक्षा मंत्रालय ने अरिहंत को लेकर कुछ नहीं कहा है।
-अरिहंत का परीक्षण दिसंबर 2014 से चल रहा था। यह हल्के वाटर रिएक्टर से चलने वाली पनडुब्बी है।

अरिहंत की विशेषताएं
-आईएनएस अरिहंत 3500 किलोमीटर दूर तक मार कर सकेगी।
-पनडुब्बी से पानी के अंदर और पानी की सतह से परमाणु मिसाइलें दागी जा सकती हैं।
-यह पनडुब्बी के-15 और के-4 मिसाइलों से लैस होगी। के-15 मिसाइल 750 किलोमीटर तक मार कर सकती है, तो के-4 की क्षमता 3500 किलोमीटर दूर तक मार करने की है।

– पूरा पाकिस्तान और चीन के कई इलाके पनडुब्बी की रेंज में आते हैं। चीन ने हिंद महासागर में अपनी पनडुब्बियां तैनात कर रखी हैं, जिससे भारत पर दबाव था। यह दबाव अब खत्म हो गया है।
-के कैटेगरी की मिसाइलों का नाम पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन के नाम से प्रसिद्ध एपीजे अब्दुल कलाम के सम्मान में रखा गया है।

बढ़ी क्षमता
-देश के पास थल और वायु से परमाणु क्षमता वाली अग्नि मिसाइलों की क्षमता पहले से थी।
-अरिहंत के नौसेना में शामिल होने से अब देश को जल के अंदर से परमाणु हमला करने की क्षमता भी प्राप्त हो गई है। अरिंहत किसी भी हमले का जवाब देने में पूरी तरह सक्षम है।
-भारत से पहले अमरीका, रूस, फ्रांस, चीन और ब्रिटेन के पास ही सबमैरीन लॉन्‍च्ड बैलिस्टिक मिसाइलों की क्षमता थी। अमरीका, रूस और चीन के पास 5000 किलोमीटर दूर तक मार करने वाली परमाणु पनडुब्बियां हैं।

आगे स्लाइड्स में देखिए कुछ और फोटोज…

INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

INS अरिहंत बढ़ाएगा देश की परमाणु क्षमता, जल,थल और वायु से भारत दाग सकेगा मिसाइलें

(फोटो साभार:जीन्यूज.कॉम, रीडिफ.कॉम, वर्ल्डन्यूज.कॉम,एअरमेक.इन)