जम्मू कश्मीर में 919 ‘अपात्र व्यक्तियों’ की सुरक्षा वापस ली गई : गृह मंत्रालय

जम्मू कश्मीर में 919 ‘‘अपात्र व्यक्तियों’’ की सुरक्षा वापस ले ली गई है जिससे 2,768 पुलिसकर्मी और 389 वाहन इस कार्य से मुक्त हो गए हैं। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। 

जम्मू कश्मीर में 919 ‘अपात्र व्यक्तियों’ की सुरक्षा वापस ली गई : गृह मंत्रालय

नयी दिल्ली:  जम्मू कश्मीर में 919 ‘‘अपात्र व्यक्तियों’’ की सुरक्षा वापस ले ली गई है जिससे 2,768 पुलिसकर्मी और 389 वाहन इस कार्य से मुक्त हो गए हैं। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

य​ह भी पढ़ें……जम्मू कश्मीर के पुलवामा में मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए: रक्षा प्रवक्ता

“राष्ट्र विरोधी गतिविधियों” में शामिल लोगों को स्पष्ट संदेश देते हुए जम्मू कश्मीर प्रशासन द्वारा जिन लोगों की सुरक्षा वापस ली गई है उनमें 22 अलगाववादी नेता भी शामिल हैं।

य​ह भी पढ़ें……सरकार ने जम्मू कश्मीर के लिए बहुविभागीय आतंकी कार्य समूह गठित किया

जम्मू कश्मीर में अल्प पुलिस संसाधन के अनुचित इस्तेमाल पर केंद्र सरकार के कड़े रुख के बाद यह कदम सामने आया है।

य​ह भी पढ़ें……अनुच्छेद 35A संवैधानिक रूप से दोषपूर्ण, जम्मू कश्मीर के विकास को कर रहा है बाधित : जेटली

गृह मंत्रालय द्वारा यह देखा गया कि कई अपात्र लोग भी सुरक्षा पाने में कामयाब हो गए जिससे जनता के लिये राज्य पुलिस संसाधन की कमी हुई।

य​ह भी पढ़ें……जम्मू कश्मीर: बडगाम में दो आतंकी ढेर, चार जवान घायल, आपरेशन जारी

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, “(इस तरह) जम्मू कश्मीर सरकार ने 20 जून 2018 से राज्यपाल शासन लगने के बाद से 919 अपात्र लोगों की सुरक्षा वापस ले ली जिससे 2,768 पुलिस कर्मी और 389 वाहन मुक्त हुए।”

य​ह भी पढ़ें……उन्नाव में निर्णायक भूमिका में होंगे दलित, सवर्ण और मुस्लिम

मामले-दर-मामले में गहन समीक्षा की जाए

गृह मंत्रालय ने फिलहाल राज्यपाल सत्यपाल मलिक के नेतृत्व में काम कर रहे राज्य प्रशासन को निर्देश दिया कि गुण-दोष के आधार पर मामले-दर-मामले में गहन समीक्षा की जाए।

य​ह भी पढ़ें……अनुच्छेद 35A संवैधानिक रूप से दोषपूर्ण, जम्मू कश्मीर के विकास को कर रहा है बाधित : जेटली

एक अन्य अधिकारी ने कहा, “इन सख्त निर्देशों के बाद जम्मू कश्मीर राज्य सुरक्षा समीक्षा समन्वय समिति (एसआरसीसी) ने सभी मामलों में नियमों के कड़ाई से अनुपालन के लिये नियमित बैठकें कीं।”

य​ह भी पढ़ें……कांग्रेस सरकार में भ्रष्टाचार एक्सीलेटर पर, विकास वेंटीलेटर पर: PM मोदी

उन्होंने कहा, “समीक्षा के बाद राज्य सरकार ने 919 अपात्र व्यक्तियों की सुरक्षा से 2,768 पुलिसकर्मियों को हटा लिया और इसके साथ ही ऐसे व्यक्तियों की भी अतिरिक्त सुरक्षा वापस ली गई जिन्हें उनकी अधिकृत क्षमता से ज्यादा सुरक्षा घेरा मुहैया कराया गया था। इस दौरान 389 वाहनों को भी हटाया गया है।”

य​ह भी पढ़ें……गोरखपुर पहुंचे जेपी नड्डा, मिशन 2019 के लोकसभा चुनाव पर किया मंथन

दूसरे अधिकारी ने कहा कि गृह मंत्रालय के निर्देशानुसार एसआरसीसी आगे भी समीक्षा का काम जारी रखेगी।

(भाषा)