×

जम्मू कश्मीर भयानक हादसा: लाशें निकल रही टनल से, कंस्ट्रक्शन कंपनी पर केस दर्ज

J&K Tunnel Collapse: गुरूवार रात जम्मू कश्मीर के रामबन में हुए भीषण टनल हादसे में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन में मलबे में दबे सभी 10 श्रमिकों की डेड बॉडी रिकवर कर ली गई है।

Krishna Chaudhary
Updated on: 21 May 2022 4:54 PM GMT
Third day of rescue operation in Ramban, bodies of all the workers removed, case filed against the construction company
X

रामबन में बचाव अभियान: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

J&K Tunnel Collapse: गुरूवार रात जम्मू कश्मीर के रामबन में हुए भीषण टनल हादसे (Ramban Tunnel Collapse) में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue Operation) का शऩिवार को तीसरा दिन था। आज शाम तक मलबे में दबे सभी 10 श्रमिकों की डेड बॉडी रिकवर कर ली गई है। जानकारी के मुताबिक, टनल को बनाने वाली कंपनी के खिलाफ केस दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। कंपनी पर इस मामले में लापरवाही को लेकर धारा 287, 336, 337 और 304A के तहत FIR दर्ज़ किया गया है। बता दें कि गुरूवार रात 11 बजे निर्माणधीन टनल का एक हिस्सा खूनी नाले के पास धंस गया था।

जानकारी के मुताबिक, इस हादसे के बाद सेना और पुलिस (army and police) के जवानों ने संयुक्त रूप से तुरंत बचाव अभियान शुरू कर दिया था। हादसे में सुरंग के सामने खड़े बुलडोजर, ट्रकों और मशीनों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। इस घटना के बाद मलबे में 12 मजदूर फंस गए थे। हालांकि दो श्रमिकों को निकाल लिया गया था। लेकिन शेष को बचाया नहीं जा सका। मृतक मजदूरों में से सर्वाधिक पांच वेस्ट बंगाल से, एक असम से, दो नेपाल से और दो स्थानीय मजदूर थे।

Photo - Social Media

हादसे के अगले दिन शुरू हुआ था बचाव अभियान

हादसे के अगले दिन यानि शुक्रवार 20 मई को रेस्क्यू ऑपरेशन चालू किया गया। पहले दिन एक ही मजदूर का शव निकाला जा सका। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान आई तेज आंधी और भूस्खलन के कारण 24 घंटे में निर्माणधीन टनल का हिस्सा दूसरी बार धंस गया। जिसके कारण बचाव कार्य रोकना पड़ा।

रामबन के डिप्टी कमिश्नर मसर्रतुल इस्लाम (Ramban Deputy Commissioner Masrratul Islam) के अनुसार, फिर से हुए भूस्खलन और तेज आंधी के कारण बचाव कार्य में बाधा आई। भूस्खलन के कारण गिरी पहाड़ी के मलबे में दो मशीनें दब गईं। इचचे बचाव कार्य और बाधित हुआ। शऩिवार सुहब साढे 5 बजे दोबारा बचाव कार्य शुरू किया गया और शाम तक मलबे में दबे सभी 10 मजदूरों के शव बाहर निकाल लिए गए।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story