सिंघवी कह रहे हैं- नेहरू और गांधी में बड़ा अंतर….चलिए मान लेते हैं

Published by Rishi Published: August 6, 2017 | 5:09 pm

भोपाल : कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां रविवार को महात्मा गांधी और पंडित जवाहर लाल नेहरू की कार्यशैली और क्षमताओं की तुलना करते हुए कहा कि महात्मा गांधी देश नहीं चला सकते थे, तो नेहरू आजादी नहीं दिला सकते थे।

ये भी देखें :शिवराज की जिद्द मेधा का उपवास 11 वें दिन भी जारी, गिर रहा स्वास्थ्य

कांग्रेस के मध्यप्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए सिंघवी ने कहा कि हर व्यक्ति की क्षमताएं अलग-अलग होती हैं। महात्मा गांधी ने आंदोलन का नेतृत्व कर देश को आजादी दिलाई थी, मगर वे उम्र के उस पड़ाव पर थे, जहां से देश नहीं चला सकते थे। वहीं दूसरी ओर नेहरू आजादी के आंदोलन का नेतृत्व नहीं कर सकते थे, मगर देश चलाने में सक्षम थे।

ये भी देखें:पर्रिकर पर हमला! जवान मारे जा रहे थे, रक्षामंत्री गोवा में लंच कर रहे थे 

उन्होंने कहा, “नेहरू उस समय युवा थे, सोच-विचार में अग्रणी थे। आज देश में नौ रत्न हैं, वे उन्हीं की देन हैं। देश में विकास की इबारत उन्हीं के कार्यकाल में लिखी गई।”

सिंघवी ने मध्यप्रदेश के प्याज घोटाले की चर्चा करते हुए कहा कि इस मामले में तो शिवराज सरकार को नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए। पहले किसानों के नाम पर व्यापारियों से प्याज खरीद ली और फिर सैकड़ों टन प्याज को सड़ा बता दिया। इस सबमें बड़ा घोटाला हुआ है।