×

RCP Singh: आरसीपी सिंह ने 9 सालों में बनाई अकूत संपत्ति, JDU ने नोटिस भेजकर मांगा जवाब, पूर्व मंत्री ने दिया इस्तीफा

RCP Singh Bihar: वर्षों तक आरसीपी सिंह को सीएम नीतीश कुमार का सबसे करीबी माना जाता रहा है। अब जनता दल यूनाइटेड ने अपने ही नेता से बीते 9 सालों में बनाई संपत्ति का ब्यौरा मांगा है।

Network
Newstrack Network
Updated on: 2022-08-06T21:53:31+05:30
bihar news jdu notice to former mp rcp singh for immense property cm nitish kumar
X

आरसीपी सिंह (RCP Singh) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

RCP Singh Bihar: कभी बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार का दाहिना हाथ माने जाने वाले पूर्व सांसद आरसीपी सिंह ने जेडीयू से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफा देते हुए अपने पत्र में लिखा कि जेडीयू डूबता हुआ जहाज है।


इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह (RCP Singh) को अब नोटिस भेजा था। उनसे शोकॉज मांगकर आरोप लगाया गया कि 2013 से 2022 के बीच आरसीपी ने नालंदा में अपने गांव के आसपास 40 बीघा जमीन खरीदी है। जदयू की ओर से दावा किया गया है कि आरसीपी सिंह ने करोड़ों की संपत्ति खरीदी है। साथ ही, प्रॉपर्टी की बात छुपाते हुए चुनावी हलफनामे में गलत जानकारी देने का भी आरोप लगाया गया है।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने लेटर लिखकर कहा कि, 'आदरणीय रामचंद्र बाबू कि नालंदा जिला जनता दल के दो साथियों का साक्ष्य के साथ परिवाद प्राप्त हुआ है। अब तक उपलब्ध जानकारी के अनुसार आपके एवं आपके परिवार के नाम से वर्ष 2013-2022 तक अकूत अचल संपत्ति निबंधित कराया गया है। जिसमें कई प्रकार की अनियमितता दृष्टिगोचर होती है।'


पार्टी को तत्काल अवगत कराएं

पत्र में आगे लिखा गया है, 'आप लंबे समय से दल के सर्वमान्य नेता नीतीश कुमार जी के साथ अधिकारी एवं राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे हैं। इसके साथ ही नोटिस के आखिर में लिखा है कि निर्देशानुसार पार्टी आपसे अपेक्षा करती है कि परिवाद के बिंदुओं पर बिंदुवार अपनी स्पष्ट राय से पार्टी को तत्काल अवगत करायेंगे।'

JDU की जीरो टॉलरेंस नीति

उमेश कुशवाहा ने आगे लिखा है कि, 'आप मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जीरो टॉलरेंस नीति (zero tolerance policy) से अवगत हैं। इतने लंबे समय से सार्वजनिक जीवन में रहने के बाद उन पर कभी कोई दाग नहीं लगा। और न उन्होंने कोई संपत्ति बनाई। इसलिए निर्देशानुसार पार्टी आपसे अपेक्षा करती है कि परिवाद के बिंदुओं पर बिंदुवार अपनी स्पष्ट राय से पार्टी को तत्काल अवगत कराएं।'

aman

aman

Next Story