Top

जेट एयरवेज संकट: नरेश गोयल का बोर्ड और चेयरमैन पद से इस्तीफा

जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता ने बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। नरेश ने चेयरमैन पद से भी इस्तीफा दिया है। अब गोयल की हिस्सेदारी 50.1 फीसदी की आधी रह जाएगी।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 25 March 2019 11:54 AM GMT

जेट एयरवेज संकट: नरेश गोयल का बोर्ड और चेयरमैन पद से इस्तीफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता ने बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। नरेश ने चेयरमैन पद से भी इस्तीफा दिया है। अब गोयल की हिस्सेदारी 50.1 फीसदी की आधी रह जाएगी।

ये भी देखें :लोक सभा चुनाव 2019: सुखराम वापस कांग्रेस की झोली में,पौत्र आश्रय शर्मा को मंडी से टिकट मिलना तय

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को कंपनी की ओर से कहा गया है, एसबीआई के नेतृत्व में जेट के कर्जदाता डेट इंस्ट्रूमेंट्स के जरिये कंपनी में 1,500 करोड़ रुपये की पूंजी डालेंगे। कर्जदाताओं के नेतृत्व में एक 'अंतरिम मैनेजमेंट कमेटी' का गठन कर दिया गया है, जो कंपनी के रोजाना के कामकाज और कैश फ्लो का प्रबंधन करेगी।

आपको बता दें, जेट के कर्जदाताओं ने बोर्ड और प्रबंधन को अपने नियंत्रण में ले लिया है अब 1.14 करोड़ शेयर भी जारी होने वाले हैं। कंपनी के लिए नया रणनीतिक पार्टनर ढूंढने के लिए एक ऑक्शन की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।

ये भी देखें :हेमा मालिनी बोलीं, यह मेरा आखिरी चुनाव, आगे युवाओं को दूंगी मौका

जेट एयरवेज की खराब वित्तीय हालत का अंदाजा इस बात से होता है कि उसने जो प्लेन लीज पर लिए हैं उनका किराया रुका हुआ है। कर्मचारियों की सैलरी तक नहीं दी जा रही थी।

आशा की किरण !

जेट एयरवेज को आपातकालीन फंड मिलने का रास्ता नजर आने लगा है। पंजाब नैशनल बैंक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही प्राथमिकता पर फंड दिदे सकती है।

कर्जे में डूबा

जेट एयरवेज पर कुल 26 बैंकों का कर्ज है। इनमें शामिल हैं केनरा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, इलाहबाद बैंक एसबीआई और पीएनबी।

एयरलाइंस पर करीब 8 हजार करोड़ का कर्ज है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story