भाजपा, बसपा, कांग्रेस सभी ने बांटे अपराधियों को टिकट

झारखंड इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स ने झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में चुनाव लड़ने वाले सभी 237 उम्मीद्वारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया। 237 में से 58 (25 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। 42 (18 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये हैं।

रांची: झारखंड इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स ने झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में चुनाव लड़ने वाले सभी 237 उम्मीद्वारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया। 237 में से 58 (25 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। 42 (18 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये हैं।

उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित

बीजेपी के 16 में से 7 (44 प्रतिशत), जेवीएम पी के 16 में से 5 (31 प्रतिशत), बीएसपी के 12 में से 3 (25 प्रतिशत), जेएमएम के 11 में से 6 (55 प्रतिशत), कांग्रेस के 4 में से 2 (50 प्रतिशत) और 12 में से 2 (17 प्रतिशत) एजेएसयू के उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। बीजेपी के 16 में से 3 (19 प्रतिशत), जेवीएम पी के 16 में से 4 (25 प्रतिशत), बीएसपी के 12 में से 3 (25 प्रतिशत), जेएमएम के 11 में से 6 (55 प्रतिशत), कांग्रेस के 4 में से 2 (50 प्रतिशत) और 12 में से 1 (8 प्रतिशत) एजेएसयू के उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये हैं।

image.png

ये भी पढ़ें— BJP व शिवसेना की राहें अलग, फिर भी दोनों राहुल के खिलाफ दिखें साथ, जानिए क्यों?

पांच उम्मीदवारों ने अपने ऊपर महिलाओं से स्त्री की लज्जा भंग करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग आईपीसी-354 और आईपीसी-509 से सम्बन्धित मामले घोषित किये हैं। इन उम्मीदवारों में से ने अपने ऊपर आईपीसी-376 से सम्बन्धित मामले घोषित किये हैं। निर्वाचन क्षेत्र बोरियो से बीजेपी के उम्मीदवार सूर्य नारायण हांसदा ने अपने ऊपर हत्या (आईपीसी-302) से सम्बन्धित मामला घोषित किया हैं। आठ उम्मीदवारों ने अपने ऊपर हत्या का प्रयास (आईपीसी-307) से सम्बन्धित मामले घोषित किये हैं। दो उम्मीदवारों ने अपने ऊपर दोषसिद्ध मामले घोषित किये हैं।

image.png

पांचवें चरण में 10 संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र है

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में 10 संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र है, जहाँ 3 या उससे अधिक उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। (’संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र वे हैं जहां 3 या 3 से अधिक ऐसे उम्मीदवार हैं जिन्होने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं।) 237 में से 51 (22 प्रतिशत) करोड़पति उम्मीदवार हैं। बीजेपी के 16 में से 6 (38 प्रतिशत), जेवीएम पी के 16 में से 4 (25 प्रतिशत), जेएमएम के 11 में से 10 (91 प्रतिशत), एजेएसयू के 12 मे से 4 (33 प्रतिशत) और 4 में से 3 (75 प्रतिशत) कांग्रेस के उम्मीदवार करोड़पति हैं। (घोषित संपत्ति 1 करोड़ से ज़्यादा)।

image.png

ये भी पढ़ें—दिल्ली फिर आग की चपेट में: 3 महिलाएं जिंदा जली, बहुमंजिला इमारत में लगी आग

शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच 

129 (54%) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की हैं, जबकि 94 (40%) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज़्यादा घोषित की हैं। 13 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता साक्षर घोषित की हैं। 85 (36%)उम्मीदवारों ने अपनी आयु 25-40 वर्ष के बीच घोषित की हैं, जबकि 124 (52%)उम्मीदवारों ने अपनी आयु 41-60 वर्ष के बीच घोषित की हैं। 26 (11%)उम्मीदवारों ने अपनी आयु 61-80वर्ष के बीच घोषित की हैं। दो उम्मीदवारों ने अपनी आयु घोषित नहीं की हैं। झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में 29 (12%) महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ रही हैं।