उत्तर प्रदेश की राह पर चला कर्नाटक, हो रही है युद्ध स्तर पर तैयारी

देश में तेजी से पैर पसारते कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी हो रही है। दिल्ली के बाद अब उत्तर प्रदेश और कर्नाटक सरकार भी हरकत में आई।

बंगलुरू। देश में तेजी से पैर पसारते कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी हो रही है। दिल्ली के बाद अब उत्तर प्रदेश और कर्नाटक सरकार भी हरकत में आई। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि कल से एक हफ्ते के लिए सभी मॉल, थिएटर, पब, क्लब, प्रदर्शन, समर कैंप, स्विमिंग पूल, स्पोर्ट्स इवेंट, विवाह स्थल, सम्मेलन को बंद कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें-नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, कर्मचारियों में खुशी की लहर

सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि किसी को भी यात्रा नहीं करनी चाहिए जब तक कि यह आपातकालीन न हो। इसके अलावा एक हफ्ते के लिए सभी विश्वविद्यालयों को बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कलीबुर्गी में कोरोना के कारण मरे बुजुर्ग के संपर्क में 31 लोग आए थे। इन लोगों की पहचान की जा रही है और उनकी भी जांच की जाएगी।

कर्नाटक में 6 केस, एक की मौत

 

कर्नाटक में अभी तक कोरोना वायरस के 6 मामले सामने आए हैं। इसमें से एक की मौत हो गई है, जबकि पांच को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। सऊदी से लौटकर आए बुजुर्ग की मौत हो गई है। वह कलबुर्गी का रहने वाला था और एक महीने की धार्मिक यात्रा पर सऊदी गया था।

22 मार्च तक UP में स्कूल-कॉलेज बंद

कर्नाटक से पहले उत्तर प्रदेश में कोरोना के मद्देनजर सभी स्कूल-कॉलेजों को 22 मार्च तक बंद कर दिया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि राज्य के 75 जिले में आइसोलेशन वार्ड बनाया है, जिनमें जनपद स्तर पर 800 बेड रिजर्व हैं। 24 मेडिकल कॉलेज में भी 448 बेड आरक्षित रखे गए हैं। कई डॉक्टरों को इसके लिए ट्रेन किया गया है।

 

 

जेएनयू और जामिया की क्लासेस बंद

उत्तर प्रदेश और कर्नाटक से पहले दिल्ली सरकार ने राजधानी में स्कूल-कॉलेज, सिनेमा घर की बंदी का ऐलान किया था। इसके बाद सेमिनार, बैठकों पर भी रोक लगा दी गई है। दिल्ली सरकार ने आईपीएल मैचों पर भी बैन लगा दिया है। आईआईटी और डीयू के बाद जेएनयू और जामिया ने भी 31 मार्च तक क्लासेस बंद करने का ऐलान किया है।