×

Jammu Kashmir: घाटी में राहुल भट्ट और दो पुलिसकर्मी की हत्या का खुलासा, कश्मीर टाइगर्स नामक आतंकी संगठन का हाथ

Jammu Kashmir News: बडगाम में कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या करने वाले आतंकी संगठन की पहचान कर ली गई है। जिसका नाम कश्मीर टाइगर्स है।

Rajat Verma
Published on 13 May 2022 11:41 AM GMT
Jammu Kashmir: घाटी में राहुल भट्ट और दो पुलिसकर्मी की हत्या का खुलासा, कश्मीर टाइगर्स नामक आतंकी संगठन का हाथ
X

कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Jammu Kashmir News: जम्मू-कश्मीर स्थित बडगाम (Budgam) के चडूरा तहसील परिसर में घुसकर कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या को लेकर इस काम में शामिल आतंकी संगठन (Terrorist Organization) की पहचान कर ली गई है। इस आतंकी संगठन का नाम 'कश्मीर टाइगर्स' (Kashmir Tigers) है। आपको बता दें कि यह वही आतंकी संगठन है जिसने बीते दिसंबर 2021 में पम्पोर जिले में पुलिस बस पर हमला (Terrorists Attack On Police Team) कर दो पुलिसकर्मियों को जान से मारने के बाद इस घटना की पूरी जिम्मेदारी ली थी।

राहुल भट्ट की हत्या में कश्मीर टाइगर्स का हाथ है। हालांकि, इस बात को नकारा भी जा रहा है क्योंकि कश्मीर टाइगर्स के कमांडर मुफ़्ती अल्ताफ को 30 दिसंबर 2021 को पुलिस हमले के बाद ढूंढकर मार गिराया गया था। ऐसे में अब यह बताया जा रहा है कि यह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) की करतूत है, जो अपनी करनी छुपाने के लिए एक निष्क्रिय संगठन का नाम आगे कर रही है।

मुफ़्ती अल्ताफ को सुरक्षाबलों ने उतारा था मौत के घाट

पम्पोर में पुलिस बस पर हमला करने के बाद मुफ़्ती अल्ताफ को उसके दो साथियों के साथ सुरक्षाबलों ने मौत के घाट उतार दिया था। इससे जुड़ा एक और तर्क भी सामने भी आया है कि कश्मीर टाइगर्स आगनकी संगठन भी जैश-ए-मोहम्मद का अंग था क्योंकि अल्ताफ शुरू से अनंतनाग में रहते हुए खुद के द्वारा एक मदरसा संचालित करते हुए जैश के लिए काम करता था और बाद में उसने जैश से प्रशिक्षण प्राप्त कर आतंकी संगठन का सक्रिय सदस्य बन गया।

पम्पोर में 13 दिसंबर 2022 को पुलिस बस पर हुए हमले के बाद मुफ़्ती अल्ताफ का नाम बतौर कश्मीर टाइगर्स के कमांडर तौर पर सामने आया लेकिन जांच के आधार पर इस बात का पता चला कि उसने जैश-ए-मोहम्मद जॉइन कर लिया है। हालांकि, हमले के कुछ ही दिन बाद 30 दिसंबर की रात मुफ़्ती अल्ताफ को अनंतनाग में सुरक्षाबल के जवानों द्वारा मार गिराया गया।

अब शुरुआती जानकारी के आधार पर बीते दिन कश्मीरी ओण्डित राहुल भट्ट की हत्या में भी कश्मीर टाइगर्स का हाथ बताया जा रहा है। हालांकि, इसी के साथ मामले में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के सम्मिलित होने और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) को लेकर भी आशंका जताई जा रही है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story