सरकार-किसान की बैठक ख़त्म, कृषि मंत्री ने कहा- प्रस्ताव पर विचार करें

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि कानूनों पर सरकार डेढ़ साल तक रोक लगाने के लिए तैयार है। इससे बेहतर प्रस्ताव सरकार नहीं दे सकती। नरेंद्र तोमर ने कहा कि अगर किसान बातचीत करने को तैयार हैं तो ये कल भी हो सकती है लेकिन विज्ञान भवन कल खाली नहीं है।

Published by SK Gautam Published: January 22, 2021 | 12:38 pm
Modified: January 22, 2021 | 7:04 pm
kisaan andolan

किसान आंदोलन LIVE:किसानों की सरकार के साथ वार्ता शुरू, इन मुद्दों पर चर्चा-(courtesy-social media)

नई दिल्ली: किसान बिल के विरोध में दिल्ली चलो के नारे के साथ शुरू किसानों का आंदोलन आज 58 वें दिन में प्रवेश कर गया है। किसान यूनियनों के नेताओं और केंद्र सरकार से आज बातचीत का 11वां दौर था। ये बात चीत बेनतीजा निकली, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि कानूनों पर सरकार डेढ़ साल तक रोक लगाने के लिए तैयार है। इससे बेहतर प्रस्ताव सरकार नहीं दे सकती। नरेंद्र तोमर ने कहा कि अगर किसान बातचीत करने को तैयार हैं तो ये कल भी हो सकती है लेकिन विज्ञान भवन कल खाली नहीं है। कृषि मंत्री ने बातचीत के लिए किसानों का धन्यवाद किया।

किसान दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं

हजारों किसान, खास कर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का यह विरोध प्रदर्शन 26 नवंबर से शुरू हुआ था। किसान नए कृषि सुधार कानूनों की वापसी और समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी की मांग कर रहे हैं। किसानों के आंदोलन और गणतंत्र दिवस पर उनकी ट्रैक्टर रैली की योजना के मद्देनजर, हरियाणा पुलिस ने कल अपने कर्मियों की छुट्टी अगले आदेश तक रद्द करने का फैसला किया है

कृषि मंत्री ने बैठक के बाद कहा- सरकार इससे बेहतर नहीं कर सकती

 

krishi minister narendra tomar singh

11वें दौर की बैठक में सरकार का सख्त रुख

किसान संगठनों और सरकार के बीच बैठक खत्म हो गई है। आज की बैठक में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हमने जो प्रस्ताव दिया है वह आपके हित के लिए है। इससे बेहतर हम कुछ नहीं कर सकते। अगर आप का विचार बने एक बार सोच लीजिए। हम फिर मिलेंगे, लेकिन अगली कोई तारीख तय नहीं की गई।

ये भी देखें: अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाने वाले पूर्व CJI गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

कृषि कानूनों की वापसी पर अड़े हैं किसान

किसान संगठनों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकराते हुए कहा कि हमें ये स्वीकार नहीं हैं। हम तीनों कानूनों के वापसी के बिना आंदोलन को खत्म नहीं करेंगे।

किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव, सरकार ने कहा- एक बार फिर करें विचार

किसानों और सरकार के बीच बैठक लगातार चल रही है। किसान संगठनों ने एक बार फिर सरकार के कानून टालने वाले प्रस्ताव को ठुकरा दिया है और तीनों कानून की वापसी की मांग कर रहे हैं।

सरकार ने किसानों से फिर विचार करने को कहा

किसानों के साथ बैठक में सरकार ने अपील की है कि संगठन एक बार फिर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा करें। अभी बैठक में ब्रेक हुआ है, ऐसे में किसान संगठन इस प्रस्ताव पर फिर चर्चा करने में जुटे हैं। किसानों ने इस दौरान विज्ञान भवन में ही लंच किया।

kisaan andolan-3

किसान संगठनों और सरकार में बातचीत शुरू

कृषि कानून के मसले पर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच 11वें दौर की बातचीत शुरू हो गई है। विज्ञान भवन में ये वार्ता हो रही है। सरकार की ओर से कानून टालने का प्रस्ताव रखा गया है, जिसे किसानों ने ठुकरा दिया है। किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान ट्रैक्टर रैली जरूर निकालेंगे, हम तिरंगे के साथ रैली निकाल रहे हैं ऐसे में इसपर इजाजत क्यों नहीं दी जा रही है।

kisaan andolan-2

ये भी देखें:Facebook डेटा चोरी करने पर CBI का एक्शन, इन कंपनियों के खिलाफ दर्ज किया केस

 दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App