किसान आंदोलन: ट्रैक्टर रैली को हरी झंडी, दिल्ली में कुछ दूरी तक आने की इजाजत

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर ने यह भी बताते हुए आगाह किया कि ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने के लिए पाकिस्तान के कुछ ट्विटर हैंडल मिले हैं। जिसपर सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर रैली सम्मानजनक तरीके से पूरी कराई जाएगी।

Published by SK Gautam Published: January 24, 2021 | 4:56 pm
Modified: January 24, 2021 | 7:00 pm
Kisan Andolan LIVE Tractor Rally

किसान आंदोलन LIVE: ट्रैक्टर रैली पर अड़े किसान, 3 लाख ट्रैक्टर होंगे सड़क पर-(courtesy-social media)

नई दिल्ली: कृषि कानून का विरोध कर रहा किसान आंदोलन अपने 2 महीने पूरे करने जा रहा है। आज आंदोलन का 58वां दिन है। पिछले 26 नवंबर से किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी की गारंटी की मांग को लेकर दिल्ली एनसीआर के बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं। सरकार इन कानूनों को 18 महीनों तक के लिए रोकने पर सहमत हो गई है, लेकिन किसान कानून को रद्द करने के अलावा और कुछ भी नहीं चाहते हैं। किसानों ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड पर दिल्ली के रिंग रोड में विशाल ट्रैक्टर रैली निकालने की घोषणा की है।

दिल्ली पुलिस कर रही प्रेस कांफ्रेंस

-किसानों द्वारा 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली को निकालने की इजाज़त मिलने के बाद दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर प्रेस को संबोधित कर रहे हैं। ट्रैक्टर रैली के रूट को बताते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली में केवल तीन जगहों पर ट्रैक्टर रैली की इज़ाज़त है।

-शर्तों के साथ इस ट्रैक्टर रैली को निकलने की इज़ाज़त दी गयी हैं।

– दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर ने यह भी बताते हुए आगाह किया कि ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने के लिए पाकिस्तान के कुछ ट्विटर हैंडल मिले हैं। जिसपर सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर रैली सम्मानजनक तरीके से पूरी कराई जाएगी।

ट्रैक्टर रैली को मिली हरी झंडी

दिल्ली पुलिस के साथ मीटिंग के बाद योगेंद्र यादव ने कहा कि दिल्ली पुलिस की तरफ से आधिकारिक रूप से 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत मिल गई है। जितने भी साथी अपनी ट्रालियां लेकर बैठें है। मैं उनसे अपील करता हूं कि सिर्फ ट्रैक्टर दिल्ली के अंदर लेकर आएं, ट्रालियां न लेकर आएं।

15 से 18 KM होगी ट्रैक्टर की स्पीड

किसान 15 से 18 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से ज्यादा ट्रैक्टर की स्पीड नही रख पाएंगे। टैक्टर रैली में कितने ट्रैक्टर शामिल हो सकते हैं यह अभी तय नहीं है। किसानों को पहले पुलिस को ट्रैक्टर की संख्या बतानी होगी। अभी तक किसानों के लेटर पर लिखित परमिशन दिल्ली पुलिस ने नहीं दिया है।

ट्रैक्टर मार्च के लिए रूट मैप पर सहमति

दिल्ली पुलिस और किसान नेताओं के बीच 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के लिए रूट मैप पर सहमति बन गई है। चार रूट पर ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा। ये हैं वो चारों रूट।

1. सिंघु रूट (74 किमी) NH44-मुनीम का बाग-नरेला-बवाना-औचंडी बॉर्डर-खारखोदा-कुंडली-सिंघु बॉर्डर

2. टिकरी रूट (82.5 किमी) टिकरी बॉर्डर-नांगलोई-बपरौला गांव-नजफगढ़-झड़ौदा बॉर्डर-बहादुरगढ़-असोदा

3. गाजीपुर रूट (68 किमी) गाजीपुर बॉर्डर-अपसरा बॉर्डर-हापुड़ा रोड-IMM कॉलेज-लाल कुंआ-गाजीपुर बॉर्डर

4. चिल्ला रूट (10 किमी) चिल्ला बॉर्डर-क्राउन प्लाजा रेड लाइट-डीएनडी फ्लाइवे-दादरी रोड-चिल्ला बॉर्डर

26 जनवरी को 25 हजार ट्रैक्टर

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि 26 जनवरी को किसान परेड के दिन उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के किसान 25 हजार ट्रैक्टर के साथ दिल्ली की सड़कों पर उतरेंगे। इस ट्रैक्टर रैली में राजनीतिक पार्टियों को आने की इजाजत नहीं होगी।

राकेश टिकैत ने कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन 25 हजार ट्रैक्टर रैली में शामिल होंगे। इस रैली में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलावा यूपी के दूसरे जिलों के किसान भी शामिल होंगे।

ये भी देखें: 3000 ट्रैक्टरों के साथ कांग्रेस, नेतृत्व कर रहे कमलनाथ, केंद्र सरकार को घेरा

 राकेश टिकैत ने कहा कि रैली में राजनीतिक दलों को आने की इजाजत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि यूपी और उत्तराखंड से किसान अपने ट्रैक्टर ट्रॉली के साथ यूपी गेट की ओर आ रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें रोक रही है। फिर भी वो दिल्ली आएंगे।

दोस्तों देश दुनिया की और  को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App