×

डॉक्टरों की तरह अब फार्मासिस्ट क्लिनिक खोल कर सकेंगे प्रैक्टिस, केंद्र ने दी मंजूरी?

एक खबर तेज़ी से हर जगह वायरल हो रही है जिसमे केंद्र की ओर से कुछ घोषणाएं होने के दावे किए जा रहे हैं। खबर में लिखा है, "फार्मेसी काउंसिल ऑफ ऑल इंडिया के प्रस्ताव पर केंद्र की मुहर।

Meghna
Updated on: 23 May 2022 1:18 PM GMT
Like doctors, now pharmacists will be able to open clinics, the center has given approval?
X

फार्मासिस्ट क्लिनिक खोल कर सकेंगे प्रैक्टिस: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: क्या देश में अब डॉक्टरों की तरह फार्मासिस्ट (pharmacist) भी क्लिनिक खोल कर मरीजों को दवा लिख सकेंगे? क्या 3 महीने एमबीबीएस के साथ प्रैक्टिस के बाद फार्मासिस्ट क्लिनिक खोल मेडिकल प्रैक्टिस (medical practice) कर सकेंगे? क्या केंद्र ने फार्मेसी काउंसिल ऑफ ऑल इंडिया (Pharmacy Council of All India) के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है? आइए जानें वायरल हो रहे इस खबर का सच!

फार्मासिस्ट अब खोल सकेंगे क्लिनिक?

एक अखबार की खबर तेज़ी से हर जगह वायरल हो रही है जिसमे केंद्र की ओर से कुछ घोषणाएं होने के दावे किए जा रहे हैं। खबर में लिखा है, "फार्मेसी काउंसिल ऑफ ऑल इंडिया के प्रस्ताव पर केंद्र की मुहर। फार्मासिस्ट अब खोल सकेंगे क्लिनिक पर 3 महीने एमबीबीएस के साथ प्रैक्टिस ज़रूरी। प्राथमिक उपचार की अनुमति, प्रदेश के 13 हजार पंजीकृत फार्मासिस्ट को मिलेगा फायदा।"

सरकार ने बताया खबर है फर्ज़ी

तेज़ी से वायरल हो रहे इस खबर पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हैंडल ने ट्वीट किया, "एक अखबार की खबर में यह दावा किया जा रहा है कि अब फार्मासिस्ट भी क्लिनिक खोलकर मेडिकल प्रैक्टिस कर सकेंगे। यह खबर फर्जी है। भारत सरकार ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।"

फार्मासिस्ट क्लिनिक खोल कर सकेंगे प्रैक्टिस: Photo - Social Media

पहले भी वायरल हो चुके हैं सरकार से जुड़े फर्जी मेसेजेस जिसपर जारी किया गया स्पष्टीकरण

इससे पहले सोशल नेटवर्किंग ऐप व्हाट्सऐप पर एक मेसेज तेज़ी से वायरल हुआ था। इस मेसेज में लिखा था, "'प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना' (Prime Minister's Unemployment Allowance Scheme) के अंतर्गत भारत सरकार सभी बेरोजगारों को प्रतिमाह ₹ 3500 दे रही है।"

सरकार ने बताया दावा है फर्ज़ी

तेज़ी से वायरल हो रहे इस मेसेज पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक (PIB Fact Check) के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया था। हैंडल ने ट्वीट किया, "दावा - एक व्हाट्सएप मैसेज में यह दावा किया गया है कि 'प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना' के अंतर्गत भारत सरकार सभी बेरोजगारों को प्रतिमाह ₹3500 दे रही है। पीआईबी फैक्ट चेक में पाया गया है कि किया गया दावा और दिया गया ब्लॉग लिंक फर्जी है। भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है।"

ना करें संदिग्ध लिंक्स पर क्लिक

सोशल मीडिया (Social Media) पर आए दिन ऐसे फर्जी लिंक्स (fake links) वायरल हो रहे होते हैं जिसपर क्लिक कर आप मुसीबत में पड़ सकते हैं। इन फर्जी लिंक्स पर क्लिक करने पर आपका पर्सनल डेटा तो खतरे में होता ही है और साथ ही स्कैमर्स को आपको पैसों का चूना लगाने में आसानी होती है। इससे बचने का एकमात्र उपाय है ऐसे लिंक्स पर क्लिक करने से बचें और सतर्क रहें।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story