लॉकडाउन कोरोना समस्या का समाधान नहीं, तैयारी करने का वक्त हैः राहुल गांधी

लॉकडाउन खोलने के मसले पर राहुल गांधी ने कहा कि आप तुरंत लॉकडाउन नहीं हटा सकते हैं, जहां पर हॉटस्पॉट हैं उन इलाकों में बड़ी ताकत के साथ टेस्ट करने होंगे। ताकि पहले एक हिस्से से खतरे को कम किया जा सके, तभी आप लॉकडाउन को धीरे-धीरे कम कर सकते हैं।

नई दिल्ली कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि लॉकडाउन किसी भी तरह से कोविड-19 का समाधान नहीं है। लॉकडाउन के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन एक पॉज़ बटन की तरह है। जब हम लॉकडाउन से बाहर आते हैं, तो वायरस अपना काम फिर से शुरू करने जा रहा होता है। देश में कोरोना संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 3 मई तक लॉकडाउन को बढाने का फैसला किया है।

गरीब मजदूर की दिक्कतों को उठाया

श्री गांधी ने आम आदमी की आवाज उठाते हुए कहा कि खासकर देश के गरीब और मजदूर वर्ग को लॉकडाउन की वजह से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर है। कांग्रेस अर्थव्यवस्था के गिरते हाल पर भी सरकार पर हमला बोल रही है।

राहुल गांधी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे, उन्होंने कोविड 19 संकट और संबंधित मुद्दों पर बात की।

राहुल गांधी ने कहा है कि कोविड-19 से लड़ने के लिए सरकार को संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करना चाहिए, उन्हें राज्यों को सौंपना चाहिए। राहुल गांधी ने कोरोना वायरस परीक्षण को तेजी से बढ़ाने और रणनीतिक रूप से इसका उपयोग करने का प्रस्ताव दिया है।

प्रभावी मशीनरी से वायनाड में सफलता

राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए हमारी मुख्य ताकत राज्य और जिला स्तरों पर काम कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि जिला स्तर पर प्रभावी मशीनरी के कारण केरल के वायनाड में सफलता मिली है।

देश में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है और लगातार मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. इस बीच विपक्ष की ओर से लगातार आवाज़ उठाई जा रही है कि सरकार को गरीबों के लिए आर्थिक मदद का ऐलान करना चाहिए। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी कहा कि हम एक गंभीर स्थिति में हैं, सभी राजनीतिक दलों को एक साथ आना होगा।

टेस्ट की संख्या बढ़ानी होगी

कांग्रेस नेता ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए टेस्ट की संख्या को बढ़ाना होगा और वायरस से आगे रहकर काम करना होगा. राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को टेस्टिंग के लिए एक रणनीति बनानी होगी, ताकि कहीं पर भी कोई कोरोना पीड़ित व्यक्ति ना बच पाए.

राज्यों के मसले पर राहुल गांधी बोले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काम सिर्फ राज्यों को ताकत देने का है, राज्यों को पैसा देने की जरूरत है। पूरे देश को एक होकर इस वायरस से लड़ने की जरूरत है। सिर्फ लॉकडाउन से बात नहीं बनेगी, आपको अपनी ताकत का सही तरीके से इस्तेमाल करना होगा।

पैसा स्पीड से पहुंचाएं

कांग्रेस नेता ने कहा कि केंद्र की ओर से जिस स्पीड से पैसा पहुंचना चाहिए, वो नहीं पहुंच रहा है। आज गोदाम में राशन पड़ा है उसे लोगों तक पहुंचाइए, न्याय योजना को लागू कीजिए जो लोग सबसे गरीब हैं उन्हें पैसे की जरूरत है। राहुल ने कहा कि भले ही आप न्याय योजना का नाम बदल लीजिए, लेकिन ऐसा काम जरूर कीजिए।

लॉकडाउन खोलने के मसले पर राहुल गांधी ने कहा कि आप तुरंत लॉकडाउन नहीं हटा सकते हैं, जहां पर हॉटस्पॉट हैं उन इलाकों में बड़ी ताकत के साथ टेस्ट करने होंगे। ताकि पहले एक हिस्से से खतरे को कम किया जा सके, तभी आप लॉकडाउन को धीरे-धीरे कम कर सकते हैं।