एम वैंकेया नायडू बोले, “भारत और वियतनाम के बीच मित्रवत संबंध मजबूत हुए हैं”

नायडू ने फुक के साथ बैठक के दौरान दोहराया कि भारत और वियतनाम के बीच सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध बौद्ध धर्म और हिंदू धर्म के बीच बंधन से मजबूत हुए हैं। उपराष्ट्रति ‘हा नाम’ प्रांत में रविवार को वेसाक समारोह के 16वें संयुक्त राष्ट्र दिवस पर अहम भाषण देने वाले हैं।

नयी दिल्ली: उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने वियतनाम के प्रधानमंत्री गुयेन शुएन फुक के साथ शनिवार को मुलाकात कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की और भारत-प्रशांत क्षेत्र में शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दोनों देशों के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के महत्व को रेखांकित किया।

ये भी देंखे:कंगना रनौत ने आलिया और रणबीर कपूर को सुनाई खरी-खो़टी

एक आधिकारिक बयान के अनुसार नायडू ने फुक के साथ बैठक के दौरान दोहराया कि भारत और वियतनाम के बीच सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध बौद्ध धर्म और हिंदू धर्म के बीच बंधन से मजबूत हुए हैं। उपराष्ट्रति ‘हा नाम’ प्रांत में रविवार को वेसाक समारोह के 16वें संयुक्त राष्ट्र दिवस पर अहम भाषण देने वाले हैं।

दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ते सहयोग का उल्लेख करते हुए, उन्होंने फुक को सूचित किया कि भारत नागरिक और गैर नागरिक दोनों उद्देश्यों के लिए उपग्रह निर्माण में वियतनाम के साथ साझेदारी करने को तैयार है।

ये भी देंखे:पश्चिम बंगाल में मौत की वोटिंग, टीएमसी-बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या

उपराष्ट्रपति ने द्विपक्षीय व्यापार को लेकर 2020 तक 15 अरब अमरीकी डालर के लक्ष्य को प्राप्त करने का विश्वास व्यक्त किया।

(भाषा)