×

BJP के इस दिग्गज नेता का निधन: पार्टी को लगा झटका, सीएम ने दी शोक संवेदना

भाजपा के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के आगर विधानसभा से विधायक मनोहर ऊंटवाल (Manohar Untwal) का गुरूवार देर रात निधन हो गया है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 31 Jan 2020 3:24 AM GMT

BJP के इस दिग्गज नेता का निधन: पार्टी को लगा झटका, सीएम ने दी शोक संवेदना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

भोपाल: भाजपा के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के आगर विधानसभा से विधायक मनोहर ऊंटवाल (Manohar Untwal) का गुरूवार को निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि उन्हें कुछ दिनों पहले ब्रेन हेमरेज की शिकायत हुई थी। जिसके बाद से उनका इलाज इंदौर के एक निजी अस्पताल में चल सका था। बाद में उन्हें गुड़गांव के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका निधन हो गया। बीजेपी विधायक के निधन के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

मध्य प्रदेश से भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल की लंबी बिमारी के बाद निधन हो गया। मनोहर ऊंटवाल उज्जैन के पास आगर विधानसभा सीट से विधायक थे। वे कई दिनों से बीमार चल रहे थे। इंदौर में काफी समय तक चले इलाज के बाद उन्हें एयरलिफ्ट कर गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में शिफ्ट किया गया था।

सीएम कमलनाथ ने जताया शोक

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आगर एमएलए मनोहर ऊंटवाल के निधन पर ट्वीट कर शोक प्रकट किया। सीएम ने कहा कि प्रदेश के आगर के विधायक मनोहर उंटवाल के दुःखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

कौन है सुभाष बाथम, जिसने खुद की मां के साथ की थी ऐसी शर्मनाक हरकत

पूर्व सीएम शिवराज से करीबी रिश्ता:

मनोहर ऊंटवाल के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से करीबी रिश्ते थे। मनोहर ऊंटवाल के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'आज ही सवेरे श्री मनोहर ऊंटवाल जी ने दिल्ली के मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनके असमय निधन से मध्यप्रदेश की जनता ने अपने प्रिय सेवक को खोया है। उनका पूरा जीवन प्रदेश एवं देशवासियों की सेवा में समर्पित रहा। उनका निधन पूरे मध्यप्रदेश की क्षति है।'

ऐसा रहा कार्यकाल:

एक पार्षद के तौर पर अपने राजनीतिक कैरियर की शुरूआत करने वाले ऊंटवाल विधायक के अलावा लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं। 1986 में उन्होंने पार्षद के चुनाव से अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वे 1988 से 2014 के बीच चार बार विधायक चुने गए। रतलाम जिले की आलोट विधानसभा को उन्होंने अपनी कर्मभूमि बनाया और वे आलोट से 2 बार विधायक चुने गए. साल 2014 में वे देवास संसदीय सीट से सांसद का चुनाव जीते। मनोहर ऊंटवाल शिवराज सरकार में नगरीय प्रशासन राज्यमंत्री भी रहे। उन्हें 2018 के विधानसभा चुनाव में आगर-मालवा सीट से भाजपा प्रत्याशी बनाया गया, जहां उन्होंने जीत दर्ज की।

कोरोना वायरस से चीन में दहशत में लोग, अभी तक 212 लोगों की मौत

भाजपा को लगा झटका:

मनोहर ऊंटवाल का निधन बीजेपी के लिए मध्य प्रदेश में बड़ा झटका माना जा रहा है। उनके निधन के साथ ही बीजेपी विधायकों की संख्या मध्य प्रदेश विधानसभा में 107 हो गई है। मध्यप्रदेश के राजनीति में उनकी गिनती कद्दावर नेता के तौर पर होती थी।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story