लॉकडाउन पर बड़ा एलान: यहां सरकार ने लिया ऐसा फैसला, फिर खुलेंगे ये सब

कोरोना से सबसे प्रभावित राज्य रहे महाराष्ट्र में लगातार लागू लॉकडाउन में कुछ मिल गयी है। सरकार ने 8 जुलाई से राज्य के होटल और लॉज के दोबारा संचालन की अनुमति दे दी है।

मुंबई: कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आये। इसमें आर्थिक राजधानी मुंबई से संक्रमितों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ बढ़ी। ऐसे में महाराष्ट्र सरकार अनलॉक घोषित होने के बाद भी लॉकडाउन जारी रखा लेकिन अब राज्य की उद्धव सरकार ने बढ़ा फैसला लिया है। सरकार ने राज्य के होटल और लॉन्ज को फिर से खोलने का एलान किया है। आठ जुलाई से महाराष्ट्र के होटलों और लॉज में काम शुरू हो जाएगा।

महाराष्ट्र में 8 जुलाई से खुलेंगे होटल और लॉज

कोरोना से सबसे प्रभावित राज्य रहे महाराष्ट्र में लगातार लागू लॉकडाउन में कुछ मिल गयी है। सरकार ने 8 जुलाई से राज्य के होटल और लॉज के दोबारा संचालन की अनुमति दे दी है। हालांकि अभी सरकार ने इन होटल और लॉज में केवल 33 फीसदी क्षमता के साथ काम करने की छूट दी है। ऐसे में होटल के कुल खाली कमरों में 33 फीसदी ही ग्राहकों के लिए चालू रहेंगे। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख़ास ख्याल रखा जाएगा।

लॉकडाउन के बाद से बंद हैं सभी होटल और लॉज

बता दें कि देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू हुआ तो महाराष्ट्र में सभी होटल और लॉज भी बंद कर दिए गए थे। बाद में देश में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई तो होटल खोलने की मांग भी उठने लगी। हालंकि सरकार ने अब दिशा निर्देशों के जात पर्याप्त एहतियात बरतते हुए होटल और लॉज खोलने की अनुमति दे दी है।

ये भी पढ़ेंः योगी का ताबड़तोड़ एक्शन: अब शोहदों की खैर नहीं, 15,000 पाॅवर एजेण्ट बनाये गये

इन नियमों का करना होगा पालन:

हॉटस्पॉट एरिया को छोड़कर सभी क्षेत्रो में होटल और लॉज खोला जा सकता है।

होटल मालिकों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरा ख्याल रखना होगा।

होटल में सिर्फ 33 फीसदी कमरों की ही बुकिंग हो सकती है।

महाराष्ट्र में कोरोना

सबसे ज्यादा कोरोना केस महाराष्ट्र से ही सामने आ रहे हैं। देश का ये पहला और एकलौता ऐसा राज्य है, जहां कोरोना के 2 लाख से ज्यादा संक्रमित मरीज हैं।  राज्य में कोरोना के कुल 2,06,619 केस आए हैं। राहत की बात हैं कि इनमें 1,11,740 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। मौजूदा समय में 86,057 एक्टिव केस हैं। वहीं कोरोना की चपेट में आकर 8,822 मरीज दम तोड़ चुके हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।