×

हे प्रभु ! रेल हादसों से मौत का महीना बनता जा रहा आजादी वाला 'अगस्त'

आपको याद होगा कि अभी कुछ ही दिन पहले यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि अगस्त महीने में बच्चे मरते ही हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 19 Aug 2017 11:11 PM GMT

हे प्रभु ! रेल हादसों से मौत का महीना बनता जा रहा आजादी वाला अगस्त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : आपको याद होगा कि कुछ ही दिन पहले यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि अगस्त महीने में बच्चे मरते ही हैं। उनके इस बयान के बाद मंत्री की खूब आलोचना हुई थी। दरअसल, उन्होंने यह बात गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई बच्चों की मौतों पर सफाई देते हुए कही थी। लेकिन हम आपको आंकड़ों के जरिए एक ऐसा सच बता रहे हैं, जो इस बात की तस्दीक करता है कि आजादी की क्रांति वाला 'अगस्त' का महीना कैसे एक दशक से ज्यादा समय से रेल हादसों की वजह से मौत के महीने में तब्दील होता जा रहा है।

यह भी पढ़ें ... ऑक्सीजन की कमी से मौतें नहीं, बच्चों की बंद सांसों पर सरकार की सफाई

ताजा रेल हादसा

यूपी के मुजफ्फरनगर में खतौली स्टेशन के पास शनिवार (19 अगस्त) को कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन (18577) के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई और 80 से ज्यादा लोग घायल हुए। इस हादसे की शुरुआती जांच में रेलवे कर्मचारियों की लापरवाही के संकेत मिले हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, ट्रेन की पटरी पर मरम्मत का काम चल रहा था। इसके बावजूद ट्रेन स्पीड 100 किमी/घंटा से ज्यादा थी।

यह भी पढ़ें ... यूपी में बड़ा हादसा: बेपटरी हुई कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस, 23 की मौत

घटनास्थल से ट्रैक मरम्मत से जुड़े औजार बरामद हुए हैं। पटरियां कटी हुई हैं। पिछले कुछ समय से यूपी समेत पूरे देश में कई रेल हादसे हुए हैं। हालांकि, रेलवे ने इस बात को मानने से इंकार किया है कि इस हादसे में रेलवे प्रशासन जिम्मेदार है। रेल मंत्रालय का रवैया चिंताजनक है। लगातार हो रहे रेल हादसे कई सवालों को जन्म दे रहे हैं। रेलवे ने पिछले हादसों से कोई सबक नहीं लिया है और इसका खामियाजा लगातार बेक़सूर जनता अपनी जान गंवा कर भुगत रही है। बता दें, कि सुरेश प्रभु के रेलमंत्री रहते हुए अब तक 300 से ज्यादा छोटे-बड़े रेल हादसे हो चुके हैं।

अगली स्लाइड में जानिए अगस्त महीने में हुए रेल हादसे

अगस्त महीने में हुए रेल हादसे

20 अगस्त, 1995 – यूपी के फ़िरोज़ाबाद में नई दिल्ली जा रही पुरुषोत्तम एक्सप्रेस कालिंदी एक्सप्रेस से जा टकराई। जिसमें 400 लोगों की मौत, 300 से ज़्यादा लोग घायल हुए।

13 अगस्त, 1998 – चेन्नई में मदुराई एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने से 19 लोगों की मौत और 27 यात्री घायल हुए।

02 अगस्त, 1999 - असम के गायसल में अवध-असम एक्सप्रेस और भुवनेश्वर मेल एक्सप्रेस आपस में टकराईं। 290 लोगों की मौत, 350 से ज्यादा लोग घायल हुए।

18 अगस्त, 2008 - सिकंदराबाद से काकिनाडा जा रही गौतमी एक्सप्रेस में देर रात आग लगी। 32 लोग मारे गए और कई घायल हुए।

17 अगस्त, 2010 - फैजाबाद-लखनऊ रेलखंड पर हुए रेल हादसे में 4 लोगों की मौत, कई लोग घायल हुए।

19 अगस्त, 2013 - राज्यरानी एक्सप्रेस की चपेट में आने से बिहार के खगड़िया ज़िले में 37 लोगों की जान चली गई और कई लोग घायल हुए।

04 अगस्त, 2015 – मध्य प्रदेश के हरदा में माचक नदी पर बनी एक पुलिया के पास कामायनी एक्सप्रेस और जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गईं। जिसमें 30 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हुए।

19 अगस्त, 2017 - मुज़फ्फरनगर में खतौली स्टेशन के पास कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन पटरी से उतरी। 23 लोगों की मौत 80 से ज्यादा लोग घायल हुए।

अगली स्लाइड में जानिए साल 2016-2017 में हुए बड़े रेल हादसे

2016 में बड़े रेल हादसे

1 मई, 2016 - फैजाबाद-दिल्ली एक्सप्रेस हापुड़ के पास पटरी से उतरी। बाल-बाल बचे यात्री, कोई हताहत नहीं।

6 मई, 2016 - चेन्नै सेंट्रल-तिरुवनंतपुरम सेंट्रल सुपरफास्ट एक्सप्रेस की एक अन्य ट्रेन से टक्कर। करीब 7 लोग घायल।

20 नवंबर, 2016 - कानपुर के पुखरायां में इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस पटरी से उतरी। 150 से ज्यादा लोगों की मौत, 260 लोग घायल।

28 दिसंबर, 2016 - कानपुर के पास अजमेर-सियालदाह एक्सप्रेस के 15 कोच पटरी से उतरे। 40 से ज्यादा लोग घायल।

यह भी पढ़ें ... कलिंग-उत्कल ट्रेन हादसा: लालू बोले- दहशत में लोग, प्रभु इस्तीफा दो

2017 में बड़े रेल हादसे

21 जनवरी 2017 - कुनेरू के पास जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतरी। 40 से ज्यादा की मौत, 68 लोग घायल।

7 मार्च, 2017 - एमपी के जबरी रेलवे स्टेशन के पास भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम फटा। 10 से ज्यादा लोग घायल।

30 मार्च, 2017 - यूपी के महोबा में महाकौशल एक्सप्रेस पटरी से उतरी। 50 से ज्यादा लोग घायल।

15 अप्रैल, 2017 - मेरठ-लखनऊ राज्यरानी एक्सप्रेस के 8 डिब्बे उत्तर प्रदेश में रामपुर के पास पटरी से उतरे। करीब 10 लोग घायल।

21 मई, 2017: उन्नाव रेलवे स्टेशन पर लोकमान्य तिलक सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन पटरी से उतर गई। ट्रेन के आठ डिब्बे पटरी से उतर गए थे।

यह भी पढ़ें ... मोदी सरकार आने के बाद अब तक 27 रेल हादसे, 259 मौतें : कांग्रेस

कांग्रेस के मुताबिक, मोदी सरकार में हुए ये रेल हादसे

-कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी साल 2014 में सत्ता में आई।

-तब से अब तक 27 रेल हादसे हो चुके हैं।

-जिनमें 259 यात्रियों की जान गई और 899 घायल हो गए।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story