आतंकी मसूद अजहर पर पाकिस्तान जवाब देने की स्थिति में नहीं

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने की रही है। इस डॉजियर में किसी घटना का नहीं बल्कि सबूतों का उल्लेख हैं जो मसूद अजहर के खिलाफ हैं, नोटिफिकेशन में सभी घटनाओं का जिक्र होना जरूरी नहीं है।

नई दिल्ली : आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के बाद विदेश मंत्रालय एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहा है। प्रवक्ता रविश कुमार ने कहा मसूद को आतंकी घोषित करने वाला डॉजियर आतंकवादी का बायोडेटा नहीं है इसलिए इसमें आतंकवादी ने क्या किया है और किन घटनाओं में आतंकवादी का रोल रहा है यह दर्शाया नहीं गया है, मसूद अजहर पर बैन लगाने के प्रस्ताव में पुलवामा घटना का बहुत अहम रोल है।

ये भी देखें : रानी लक्ष्मीबाई स्कूल में CBSE के रिजल्ट निकलने के बाद खुशियां मनाते बच्चे

और क्या कहा प्रवक्ता ने 

पाकिस्तान के द्वारा कई प्रॉपेगैंडा फैलाए जा रहे हैं, दोनों स्थिति में पाकिस्तान जवाब देने की स्थिति में नहीं है, उसकी आलोचना हो रही है इसलिए वह गुमराह करने वाली बातें फैला रहा है: रविश

चीन ने पहले ही बता दिया कि उसने वीटो क्यों वापस लिया, हमारी मंशा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने की रही है। इस डॉजियर में किसी घटना का नहीं बल्कि सबूतों का उल्लेख हैं जो मसूद अजहर के खिलाफ हैं, नोटिफिकेशन में सभी घटनाओं का जिक्र होना जरूरी नहीं है। यह प्रक्रिया 2009 में शुरू हुई थी जो अब पूरी हुई है: रविश

ये भी देखें : मसूद अजहर के ग्लोबल टेररिस्ट घोषित होने के बाद शहीद की पत्नी का आया ये बयान

मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने का फैसला सही दिशा में है। यह फैसला भारत की स्थिति के अनुकूल था। भारत ने जो जानकारी सैंक्शन कमिटी के सदस्यों को दिया था फैसला उसके अनुरूप था: रविश

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App