×

MDH वाले दादा की कमाई आपको कर देगी हैरान, रखते हैं ये शौक

इस समय धर्मपाल 96 वर्ष की आयु में इन्हें 21 करोड़ रुपए सैलरी मात्र मसालों के कारोबार से मिलती है। धर्मपाल गुलाटी भारतीय खुदरा बाजार में बिकने वाले उत्पाद के रूप में सबसे अधिक सैलरी लेने वाले CEO हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 25 Jan 2020 11:00 AM GMT

MDH वाले दादा की कमाई आपको कर देगी हैरान, रखते हैं ये शौक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: टीवी पर आप कई विज्ञापन देखते होंगे, इनमें सालों से टीवी पर आ रहे एम.डी.एच के विज्ञापन में दिखाई देने वाले दादा जी तो आपको याद ही होंगे। इनका नाम ‘महाशय धर्मपाल गुलाटी‘ है। इनको तो सभी जानते हैं लेकिन इनकी कमाई के बारे में शायद ही कोई जानता होगा। आज हम आपको इनकी सैलरी के बारे में बताने जा रहे हैं। धर्मपाल मसालों की सबसे बड़ी कंपनी ‘एम.डी.एच’ के मालिक हैं और उनके बिना कंपनी के किसी भी उत्पाद का विज्ञापन नहीं आता।

सबसे अधिक सैलरी लेने वाले CEO धर्मपाल गुलाटी

इस समय धर्मपाल 97 वर्ष की आयु में इन्हें 21 करोड़ रुपए सैलरी मात्र मसालों के कारोबार से मिलती है। धर्मपाल गुलाटी भारतीय खुदरा बाजार में बिकने वाले उत्पाद के रूप में सबसे अधिक सैलरी लेने वाले CEO हैं। धर्मपाल गुलाटी आज भी रोज दफ्तर और फैक्ट्री जाते हैं और खुद डीलरों से मुलाकात करते हैं। धर्मपाल की कंपनी महाशियां दी हट्टी जो एम.डी.एच के नाम से मशहूर है।

ये भी पढ़ें—दिल्ली की लज़ीज़ चुनावी थाली, यहां जानें क्या-क्या है शामिल

बता दें कि 1919 में पाकिस्तान के सियालकोट से शुरू की एक छोटी सी दुकान उनके पिता चुन्नी लाल ने खोली थी। आज ये छोटी सी 1500 करोड़ रुपए के साम्राज्य में तब्दील हो चुकी है। गुलाटी के इस करोड़ों के साम्राज्य में मसाला कंपनी, करीब 20 स्कूल और एक हॉस्पिटल शामिल है।

कौन हैं धर्मपाल गुलाटी, जानें इनके बारे में

धर्मपाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च, 1923 को सियालकोट (पाकिस्तान) में हुआ था। उनके पिता का नाम महाशय चुनीलाल और माता का नाम चानान देवी है। धर्मपाल ने केवल पांचवीं तक की पढाई की थी। वो शुरू में अपने पिता के मसाले के बिजनेस से अलग व्यापार में हाथ आजमाना और सफल होना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने सियालकोट में रहते हुए कई तरह के बिजनेस में हाथ आजमाया लेकिन वो किसी में सफल नहीं हो पाए उसके बाद वह अपने पिता के मसालों के व्यापार में शामिल हो गए जिन्हें लोकप्रिय रूप से ‘देगी मिर्च वाले’ के नाम से जाना जाता है, और यह पुरे भारत में प्रचलित था।

ये भी पढ़ें—एक बार फिर खुलेगा व्यापम का जिन्न, कई नाम आएंगे सामने

देश के विभाजन के बाद धर्मपाल गुलाटी दिल्ली के करोल बाग आकर बस गए थे और तब से वह भारत में 15 फैक्ट्रियां खोल चुके हैं जो करीब 1000 डीलरों को सप्लाई करती हैं। एमडीएच के दुबई और लंदन में भी ऑफिस हैं। यह कंपनी लगभग 100 देशों अपने मसालों का निर्यात करती है। गुलाटी के बेटे कंपनी का हर कामकाज संभालते हैं वहीं उनकी 6 बेटियां अलग जगहों पर डिस्ट्रिब्यूशन का काम संभालती हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story