×

मेघालय ने बचाई कांग्रेस की लाज, 21 पर आगे, एनपीपी 14 सीटों पर आगे

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 3 March 2018 7:43 AM GMT

मेघालय ने बचाई कांग्रेस की लाज, 21 पर आगे, एनपीपी 14 सीटों पर आगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : मेघालय विधानसभा के लिए जारी मतगणना में सत्तारूढ़ कांग्रेस 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है जबकि नेशनल पीपुल्स पार्टी 14 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं भाजपा छह सीटों पर आगे चल रही है। निर्वाचन आयोग ने नई दिल्ली में इस बात की जानकारी दी। राज्य की 60 विधानसभा सीटों में से 59 पर 27 फरवरी को मतदान हुआ था। एक उम्मीदवार की मौत के कारण एक सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया था।

60 सीटों में से 58 सीटों पर जारी मतगणना में कांग्रेस 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

ये भी देखें : त्रिपुरा : इन कारणों से ‘लाल किला’ ढहाने में कामयाब रही बीजेपी

केंद्र, राजस्थान और मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी कोनराड संगमा के नेतृत्व वाली एनपीपी मेघालय में अपने दम पर चुनाव लड़ रही है और 14 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। हाल ही में मिली जानकारी के मुताबिक, भाजपा छह सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

अम्पाती विधानसभा में 1993 से लगातार पांच बार चुनाव जीतने वाले संगमा भाजपा के अपनी करीबी प्रतिद्वंदी बकुल चौधरी हजोंग से 797 मतों से आगे चल रहे हैं।

चुनाव आयोग के मुताबिक, युनाईटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) छह सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट पांच सीटों पर और निर्दलीय उम्मीदवार कम से कम चार सीटों पर आगे चल रहे हैं।

सोंगसक में दिग्गज कांग्रेस उम्मीदवार एनपीपी के निहिम डी. शिरा से 1,501 वोटों से आगे चल रहे हैं।

कांग्रेस ने चुनाव मैदान में 59 उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि भाजपा 47 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

विलियमनगर सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के उम्मीदवार जोनाथन संगमा की 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में आईईडी विस्फोट में मौत के बाद इस सीट पर मतदान रद्द कर दिया गया था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story