×

मिजोरम के राज्यपाल ने दिया इस्तीफा, यहां से थुरूर के खिलाफ लड़ सकते हैं चुनाव

बता दें कि के.राजशेखरन को मई 2018 में मिजोरम का राज्यपाल बनाया गया था। असम के राज्यपाल जगदीश मुखी मिजोरम के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे। के. राजशेखरन के इस्तीफे के बाद कहा जा रहा है कि वह कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 8 March 2019 11:51 AM GMT

मिजोरम के राज्यपाल ने दिया इस्तीफा, यहां से थुरूर के खिलाफ लड़ सकते हैं चुनाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: मिजोरम के राज्यपाल के.राजशेखरन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है।

बता दें कि के.राजशेखरन को मई 2018 में मिजोरम का राज्यपाल बनाया गया था। असम के राज्यपाल जगदीश मुखी मिजोरम के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे। के. राजशेखरन के इस्तीफे के बाद कहा जा रहा है कि वह कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं।

बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी की केरल इकाई राजशेखरन को तिरुवनंतपुरम से शशि थरूर के खिलाफ उम्मीदवार बनाना चाहती है। इसके लिए भाजपा की केरल इकाई ने पार्टी लीडरशिप से बातचीत भी की थी। इस बातचीत के बाद ही राजशेखरन का इस्तीफा आया। ऐसे में कहा जा रहा है कि पार्टी उन्हें कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर के खिलाफ तिरुवनंतपुरम सीट से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार बना सकती है।

संघ से जुड़े हैं के.राजशेखरन

गौरतलब है कि के. राजशेखरन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे हैं। 2015 में उन्हें केरल का भाजपा अध्यक्ष बनाया गया था। वह तीन सालों तक केरल के भाजपा अध्यक्ष रहे और इसके बाद उन्हें मिजोरम का राज्यपाल नियुक्त किया गया। यह भी कहा जा रहा है कि संघ राजशेखरन को फिर से केरल में वापस बुलाना चाहता था। दो हफ्ते पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सामने राजशेखरन को केरल वापस भुलाने का मुद्दा उठाया गया था। अमित शाह के सामने संघ के प्रतिनिधियों ने राजशेखरन को वापस सूबे में बुलाने की मांग की थी।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story