×

मोदी कैबिनेट ने दी जम्मू-कश्मीर को 10 फीसदी आरक्षण की मंजूरी

कैबिनेट ने जम्मू और कश्मीर आरक्षण (दूसरा संशोधन) विधेयक, 2019 को मंजूरी दी। यह मौजूदा संस्थानों के साथ-साथ शैक्षणिक संस्थानों और सार्वजनिक रोजगार में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 10% तक आरक्षण के लाभ को बढ़ाने का मार्ग प्रशस्त करेगा।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 31 July 2019 12:30 PM GMT

मोदी कैबिनेट ने दी जम्मू-कश्मीर को 10 फीसदी आरक्षण की मंजूरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: मोदी कैबिनेट द्वरा बुधवार को की गयी बैठक में लिए गए अहम् फैसले में जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए भी आर्थिक रूप से आरक्षण को मंजूरी दे दी गयी। इसको लेकर सरकार एक बिल लाई है जिसमें ये मंजूरी दी गई है। इस बिल में राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को शैक्षिण संस्थानों और सरकारी नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण मिलने का रास्ता साफ हो गया।

इसके अलावा भी इस कैबिनेट में किसानों के लिए कुछ फैसले किए गए, इसरो से जुड़ा फैसला हुआ और साथ ही साथ चिट-फंड बिल को मंजूरी दी गई।

ये भी देखें : उन्नाव सड़क हादसा मामला: पीड़िता के चाचा, पत्नी का अंतिम संस्कार करके जिला जेल वापस

कैबिनेट ने जम्मू और कश्मीर आरक्षण (दूसरा संशोधन) विधेयक, 2019 को मंजूरी दी

कैबिनेट ने जम्मू और कश्मीर आरक्षण (दूसरा संशोधन) विधेयक, 2019 को मंजूरी दी। यह मौजूदा संस्थानों के साथ-साथ शैक्षणिक संस्थानों और सार्वजनिक रोजगार में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 10% तक आरक्षण के लाभ को बढ़ाने का मार्ग प्रशस्त करेगा।

किसानों के लिए बड़ा फैसला: न्यूट्रिशन के हिसाब से जो किसानों को फर्टिलाइजर सब्सिडी मिलती थी, उसे बढ़ाने का फैसला किया गया है। इसके लिए किसानों को 22,875 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जाएगी, जिसका खर्चा सरकार उठाएगी।

चिट-फंड बिल को कैबिनेट ने मंजूरी दी। इसको रेगुलेट करने के लिए विधेयक आएगा। इसको लेकर पहले भी विधेयक संसद में आया था, लेकिन लोकसभा खत्म होने की वजह से अब दोबारा बिल लाया गया है।

मंत्रिमंडल ने शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए बाह्य अंतरिक्ष के अन्वेषण और उपयोग में सहयोग पर ISRO और बोलिवियाई अंतरिक्ष एजेंसी के बीच समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी। इस समझौता ज्ञापन पर भारत द्वारा 11 मार्च 2019 को बेंगुलुरु और 28 मार्च 2019 को बहरीन द्वारा मनामा में हस्‍ताक्षर किए गए।

ये भी देखें : Y factor with Yogesh Mishra- एक साथ तीन तलाक से छुटकारे की जीत का जश्न… Episode 47

सुप्रीम कोर्ट के जजों की संख्या अब चीफ जस्टिस समेत 34 जज सुप्रीम कोर्ट में होंगे

केंद्रीय कैबिनेट ने सुप्रीम कोर्ट के जजों की संख्या बढ़ाने का फैसला लिया है। पहले सुप्रीम कोर्ट में 30 जज थे, जिनको बढ़ाकर अब 33 कर दी गई है यानी अब चीफ जस्टिस समेत 34 जज सुप्रीम कोर्ट में होंगे। इस तरह सुप्रीम कोर्ट के जजों की संख्या में 10% की बढ़ोत्तरी हुई है।

CCEA ने वर्ष 2019-20 के लिए फॉस्फेटिक और पोटैसिक (P&K) उर्वरकों के लिए पोषक तत्व आधारित सब्सिडी (NBS) दरों को मंजूरी दी। इसमें साल 2019-20 के दौरान अनुमानित लागत 22,875.50 करोड़ रुपये आएगी।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story