Top

जवान चंदू की वापसी मेंं जुटी MODI सरकार, PAK विदेश मंत्रालय से करेगी बातचीत

By

Published on 1 Nov 2016 6:36 AM GMT

जवान चंदू की वापसी मेंं जुटी MODI सरकार, PAK विदेश मंत्रालय से करेगी बातचीत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक सीमा में गलती से इंटर कर गए भारतीय जवान चंदू बाबूलाल की वापसी के लिए मोदी सरकार जुट गई है। इसके लिए सरकार अब कूटनीतिक तरीकों का इस्तेमाल करेगी। सरकार अब सीधे पाक विदेश मंत्रालय से बात करेगी।

अब तक इंडियन आर्मी के डीजीएमओ (डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन) रणबीर सिंह पाकिस्तान के डीजीएमओ से बातचीत कर रहे थे। रणबीर सिंह ने चंद्र बाबूलाल चव्हाण को छोड़ने की अपील की थी, लेकिन पाकिस्तान की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें पूरा मामला...

गलती से लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पार कर पाकिस्तान पहुंचे भारतीय सैनिक का नाम चंदू बाबूलाल चौहान है। वो 37वीं राष्ट्रीय रायफल के जवान हैं। भारत उन्हें छुड़ाने के लिए हरसंभव राजनयिक और कूटनीतिक कोशिशें कर रहा है। इस बीच खबर आई है कि उनके पाकिस्तान के कब्जे में होने की सूचना मिलते ही उनकी नानी लीलाबाई चिंदा पाटील की गुरुवार रात हार्ट अटैक से मौत हो गई।

ये भी पढ़ें …गलती से LoC पार कर गया भारतीय जवान, PAK सेना ने किया अरेस्‍ट, राजनाथ बोले-बचाएंगे जान

जानिए कौन हैं चंदू बाबूलाल?

-चंदू बाबूलाल (23 वर्ष) महाराष्ट्र के धुले जिले के वोरबीर गांव के रहनेवाले हैं।

-वह 37वीं राष्ट्रीय रायफल के जवान हैं।

-उनके पिता का नाम बाशन चौहान है।

-चंदू बाबूलाल के भाई भी सेना में। उनकी तैनाती इस वक़्त गुजरात में तैनात हैं। }

-गौरतलब है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह खुद चंदू बाबूलाल चौहान की रिहाई के लिए कोशिशों में जुटे हैं।

ये भी पढ़ें … जानिए कौन है पाक कब्जे में बंद भारतीय सैनिक, सदमे से हुई नानी की मौत

Next Story