Top

चमकी बुखार से हुई सैकड़ो मौतों के बाद पहुंचे CM नीतीश, लगे मुर्दाबाद के नारे

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से अबतक 129 बच्चों की मौत हो गई है। आज मुजफ्फरपुर पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ गुस्साए लोगों ने मुर्दाबाद और वापस जाओ के नारे लगाए।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 18 Jun 2019 7:08 AM GMT

चमकी बुखार से हुई सैकड़ो मौतों के बाद पहुंचे CM नीतीश, लगे मुर्दाबाद के नारे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से अबतक 129 बच्चों की मौत हो गई है। आज मुजफ्फरपुर पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ गुस्साए लोगों ने मुर्दाबाद और वापस जाओ के नारे लगाए। फिलहाल नीतीश कुमार अस्पताल के अंदर बैठक कर रहे हैं। अस्पताल के बाहर भारी संख्या में लोग मौजूद हैं। सीएम नीतीश के साथ डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भी मौजूद हैं।

बताया जा रहा है कि सीएम नीतीश कुमार नौ दिनों बाद मुजफ्फरपुर के अस्पताल पहुंचे हैं। जबकि पटना से मुजफ्फरपुर सिर्फ 80 किलोमीटर दूर है। लोग इसी बात से नाराज हैं कि नीतीश कुमार ने यहां आकर स्वास्थ्य व्यवस्था का एक बार भी जायजा नहीं लिया।

यह भी देखें... कानपुर: आग की चपेट में आने से पांच फैक्ट्री जलकर हुई बर्बाद

इस मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और बिहार सरकार को नोटिस भेजा है। चमकी बुखार के बीच डॉक्टरों की हड़ताल के कारण स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘मानवाधिकार आयोग ने बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में पिछले कुछ दिनों से एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से मरने वाले बच्चों की बढ़ती संख्या का स्वत: संज्ञान लिया है।’’ मानवाधिकार आयोग ने बयान जारी कर बताया कि आयेाग ने केंद्रीय स्वास्थ्य और कल्याण मंत्रालय के सचिव और बिहार के मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

इस गंभीर स्थिति से निपटने के लिए जापानी इन्सेफ्लाइटिस वायरस, एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम पर नियंत्रण और रोकथाम के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम को लागू करने की स्थिति पर भी रिपोर्ट मांगी गई है। बयान में कहा गया, ‘‘आयोग अस्पताल में भर्ती बच्चों को दी जाने वाली चिकित्सा और पीड़ित परिवारों को राज्य सरकार की तरफ से दी जाने वाली राहत और पुनर्वास की स्थिति के बारे में भी जानना चाहता है।’’ आयोग ने चार हफ्ते के अंदर जवाब देने के लिए कहा है।

यह भी देखें... सांसद ओम बिरला पहुंचे संसद, थोड़ी देर में लोकसभा अध्यक्ष पद की शपथ लेंगे

श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत

मुजफ्फरपुर जिले में सोमवार को छह बच्चों की मौत हो गई जिससे एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम के संदिग्ध मामले से मरने वाले बच्चों की संख्या 104 हो गई है। जिला प्रशासन की तरफ से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक जिले के केजरीवाल अस्पताल में 18 बच्चों की मौत हुई है, जबकि श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story