×

मध्यप्रदेश में राहुल बोले- 10 दिनों में किसानों का कर्ज माफ, नोटबंदी बड़ा घोटाला   

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Nov 2018 11:10 AM GMT

मध्यप्रदेश में राहुल बोले- 10 दिनों में किसानों का कर्ज माफ, नोटबंदी बड़ा घोटाला   
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

भोपाल : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश के देवरी सागर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया और पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशान साधा। राहुल ने इस दौरान किसी स्थानीय मुद्दे के स्थान पर बेरोजगारी, किसानों, नोटबंदी और अमीरों की कर्जमाफी के मुद्दों को अपने संबोधन में स्थान दिया और केंद्र की मोदी सरकार को घेरा।



क्या बोले राहुल

राहुल ने कहा, मोदी जी अपने भाषण में साढ़े चार साल के रिकॉर्ड की बात करते हैं लेकिन कितने युवाओं को रोजगार दिया, उसके बारे में एक शब्द नहीं बोलते। मध्य प्रदेश की सरकार ने 15 साल और केंद्र ने 4 साल में कितनों को रोजगार दिया, किसी को नहीं बताया। नोटबंदी सबसे बड़ा घोटाला है जिसके चलते गरीब, मजदूर, किसान, छोटे कारोबारी को लाइन में लगा दिया गया और कालेधन वाले हजारों करोड़ रुपये लेकर देश से भाग गए।

ये भी देखें : राजस्थान इलेक्शन : सीएम इन वेटिंग अशोक और सचिन लड़ेंगे चुनाव

ये भी देखें :आम चुनाव 2019: थरूर के खिलाफ इस मलयालम सुपरस्टार को उतार सकती है BJP

ये भी देखें :राजस्थान चुनाव: ये लगा जोर का झटका, बीजेपी सांसद हरीश मीणा कांग्रेस में शामिल

ये भी देखें :राजस्थान इलेक्शन : बीजेपी MLA ने कहा, मुस्लिम होने की वजह से नहीं मिला टिकट

ये भी देखें :इलेक्शन 2018 : राजस्थान में टिकट कटा तो मंत्री ने दिया पार्टी से इस्तीफा

राहुल के संबोधन में चीन

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, चीन हर दिन 50 हजार नौकरी पैदा करता है। वहीं भारत में स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया, मेक इन इंडिया जैसी योजनाओं के बाद भी मोदी सरकार हर दिन सिर्फ 450 नौकरी पैदा करती है। पिछले दो वर्षों में बेरोजगारी दुगनी हो गई है और युवाओं में आत्महत्या की दर दो हजार फीसदी बढ़ी है।

मध्यप्रदेश में एक लाख सरकारी नौकरियां खाली पड़ी है। स्कूलों और अस्पतालों का निजीकरण हो गया है।

नोटबंदी बड़ा घोटाला

राहुल ने कहा, नोटबंदी से बड़ा घोटाला देश के इतिहास में कभी नहीं हुआ है। नोटबंदी करके नरेंद्र मोदी जी ने हिंदुस्तान के गरीब लोगों की जेब में हाथ डालकर उनका पैसा निकालकर हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों की जेब में डाला है।

अब लगा शिवराज सिंह का नंबर

राहुल ने सीएम शिवराज से सवाल करते हुए कहा, पूरा मध्यप्रदेश जानता है व्यापम घोटाले में शिवराज चौहान जी और उनके परिवार का क्या रोल है।

प्रदेश के घोटाले गिनाए

राहुल ने अपने संबोधन में घोटालों की लिस्ट गिनाते हुए कहा, ई-टेंडरिंग घोटाले में 3000 करोड़ आपसे छीन लिए। सारे टेंडर शिवराज चौहान जी के लोगों को दे दिये गए। मिड-डे-मील घोटाला, नर्मदा घोटाला।

भ्रष्टाचार भूले मोदी

राहुल ने कहा कि मोदी पहले भ्रष्टाचार की बातें करते थे। आजकल उनके भाषण में भ्रष्टाचार की बातें नहीं होती। वह कहते थे कि 56 इंच की छाती है। मुझे पीएम नहीं चौकीदार बनाओ। आजकल भाषण में मोदी भ्रष्टाचार शब्द का इस्तेमाल भी नहीं करते।

अमीरों पर मोदी का करम

राहुल गांधी ने कहा, मैं मोदी जी के दफ्तर में गया। खुद गया। मैंने उनसे एक सवाल पूछा कि मोदी जी एक बात बताइए, आपने 3 लाख करोड़ रुपया 15-20 लोगों का माफ किया। आप किसान से बोनस छीनते हैं, उसे सही दाम देने का वादा किया, लेकिन नहीं देते हो। आप किसान का कर्जा माफ क्यों नहीं करते हो? मेरे सवाल का जवाब मोदी जी ने नहीं दिया।

10 दिनों में किसानों का कर्ज माफ

राहुल ने अपनी जनसभा में किसानों ने वादा किया कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के 10 दिन के अंदर मध्य प्रदेश के किसानों का कर्जा माफ हो जाएगा। कर्जा माफ करने में 11वां दिन नहीं लगेगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story