Top

मनसुख की हुई थी हत्या: अनिल देशमुख ने भी माना, शरद पवार से की मुलाकात

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी कार खड़ी करने का मामला महाराष्ट्र सरकार के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 19 March 2021 8:58 AM GMT

मनसुख की हुई थी हत्या: अनिल देशमुख ने भी माना, शरद पवार से की मुलाकात
X
फोटो— सोशल मीडिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी कार खड़ी करने का मामला महाराष्ट्र सरकार के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है। मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की गिरफ्तारी मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आज दिल्ली में एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद अनिल देशमुख ने बड़ा खुलासा करते हुए माना कि उनकी हत्या हुई थी। साथ ही उन्होंने कहा कि स मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जांच में सहयोग करने का वादा

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा ​कि एंटीलिया के पास मिले विस्फोट से भरे वाहन तथा मनसुख हिरेन की हत्या के मामलों में एनआईए और एटीएस जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि एनआईए की जांच में राज्य सरकार पूरा सहयोग कर रही है। इसी संदर्भ में आज शरद पवार से मुलाकात की उनको घटना क्रम के बारे में जानकारी दे दी गई है। बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही में परमबीर सिंह तबादल कर उनकी जगह हेमंत नागराले को मुंबई पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया था। मुंबई पुलिस कमिश्नर का पदभार संभालने के बाद हेमंत नागराले ने कहा था कि हाल के समय में मुंबई पुलिस की छवि धूमिल हुई है, जिसे सुधारने की कोशिश की जाएगी।

इसी भी पढ़ें: महाभयानक स्थिति: बढ़ता जा रहा कोरोना, रिकवरी दर गिरी, केस 40 हजार के पार

बता दें कि मामले की जांच कर रही एनआईए खुलासे के काफी करीब पहुंच चुकी है। मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक भरी कार कोई और नहीं बल्कि पुलिस अधिकारी सचिन वाझे ने खड़ी की थी। एनआईए के हाथ जो सीसीटीवी फुटेज हाथ लगा है उसमें दिख रहा व्यक्ति सचिन वाझे से मिल रहा है। सूत्रों की मानें तो वाझे ने अपनी पहचान छिपाने के लिए ओवर साइज कुर्ता व गमछे से पूरे चेहरे को ढका हुआ था।

इसी भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम का ऐलान- पत्रकारों को भी मुफ्त लगेगा कोरोना का टीका

Newstrack

Newstrack

Next Story