सिख ड्राईवर पिटाई मामले में मुखर्जी नगर थाने का घेराव, गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

दिल्ली के मुखर्जी नगर में ग्रामीण बस सेवा के ड्राइवर के साथ दिल्ली पुलिसकर्मियों की मारपीट के मामले में गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी है।

नई दिल्ली: दिल्ली के मुखर्जी नगर में ग्रामीण बस सेवा के ड्राइवर के साथ दिल्ली पुलिसकर्मियों की मारपीट के मामले में गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी है।इस मामले में दिल्ली पुलिस ने दो क्रास एफआईआर दर्ज की है। पहली एफआईआर ड्राइवर सरबजीत के खिलाफ और दूसरी एफआईआर ड्राइवर की शिकायत के आधार पर पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज की गई है।

यह भी देखें… दिल्ली जाना है तो जान लें ये बात, जो आएंगी काम आपके

दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पीड़ितों ने दी लिखित शिकायत

मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है और पूरे मामले की स्वतंत्र जांच नार्दन रेंज के ज्वाइंट सीपी को सौपी गई है, जो पुलिसकर्मियों के बर्ताव की भी जांच करेंगे। इस मामले में प्राथमिक जांच में जिन पुलिसकर्मियों का व्यवहार गलत पाया गया था, उन तीनों को पहले पुलिसकर्मियों को पहले ही निलंबित कर दिया गया है।

आज क्राइम ब्रांच मामले से जुड़े लोगों को पूछताछ के लिए बुला सकती है। सोमवार को ड्राइवर सरबजीत और विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को लिखित शिकायत भी दी है।

ड्राइवर सरबजीत की पिटाई के विरोध में कल रात सिख समुदाय के लोगों की भीड़ मुखर्जी नगर थाने में जमा हो गई। पुलिसवालों और नेताओं से झड़प हुई। मांग ये है कि पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। हालात तनाव से भरे हुए तो हैं लेकिन फिलहाल नियंत्रण में हैं। मुखर्जी नगर थाने में अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा भी पहुंचे थे, लेकिन लोगों का गुस्सा फूटा और विधायक से ही हाथापाई शुरू कर दी।

यह भी देखें… बारिश से भारत के कुछ हिस्सों में पारा गिरा, बिहार में लू लगने से 102 लोगों की मौत

ये था पूरा मामला…..

रविवार शाम को ग्रामीण सेवा के चालक सरबजीत और दिल्ली पुलिसकर्मियों के बीच गाड़ी टच होने के विवाद के चलते झड़प हुई। घटना को लेकर जो वीडियो सामने उनमें ड्राइवर सरबजीत अपने हाथ में तलवार लिये दिखाई पड़ रहा है। कुछ अन्य वीडियो में दिल्ली पुलिस के जवान ड्राइवर सरबजीत और उसके बेटे को बेहरमी से पीटते हुए दिखाई दे रहे है।