धारावी में मिले दो कोरोना मरीज, एशिया के सबसे बड़े स्लम एरिया में अलर्ट

भारत में भी कोरोना कहर बन चुका हैं। अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी। और मौत का आंकडा भी बढ़ने लगा है। इधर देश के सबसे बड़े स्लम इलाके मुंबई के धारावी में बुधवार को कोरोनावायरस का पहला मामला मिला और रिपोर्ट आने के कुछ ही घंटों में उस शख्स की मौत हो गई।

Published by suman Published: April 4, 2020 | 8:44 pm

मुंबई: भारत में भी कोरोना कहर बन चुका हैं। अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी। और मौत का आंकडा भी बढ़ने लगा है। इधर देश के सबसे बड़े स्लम इलाके मुंबई के धारावी में बुधवार को कोरोनावायरस का पहला मामला मिला और रिपोर्ट आने के कुछ ही घंटों में उस शख्स की मौत हो गई। 56 साल के इस मरीज का सायन अस्पताल में इलाज चल रहा था। उसके परिवार के 7 सदस्यों को क्वारेंटाइन किया गया। प्रशासन ने बिल्डिंग को सील कर दिया है, जहां वह परिवार रहता था। बिल्डिंग में रह रहे लोगों को खाना पहुंचाया जा रहा है, ताकि लोग बाहर न निकलें।

 

मुंबई की सबसे घनी आबादी

यहां कोरोना मरीज मिलने से चिंता बढ़ गई है। क्योंकि  उसके अलावा अब तक 2 अन्य लोगों में कोरोना पाया गया था। शनिवार को दो और लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई। इसी के साथ इस इलाके में कोरोना मरीजों की संख्या पांच हो गई है। धारावी में दो और मरीजों के मिलने के बाद महाराष्ट्र सरकार और स्थानीय प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। क्योंकि यहां मुंबई की सबसे घनी आबादी है। 535 एकड़ में करीब 10 लाख लोग रहते हैं। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 320 पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें 181 अकेले मुंबई में हैं।

 

यह पढ़ें…इस दिन सभी होंगे तैयार: कोरोना से लड़ने में सक्षम होगा देश, सरकार पूरी तरह से सजग

तबलीगी जमात के लोग

धारावी में जिस 56 वर्षीय युवक की जान इस खतरनाक वायरस की वजह से गई, वह दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेकर आए लोगों के संपर्क में आया था। खबरों के अनुसार जमात में शामिल होकर 22 मार्च को मुंबई लौटीं पांच महिलाएं मृतक के ही पास के फ्लैट में रुकी थीं।

यह पढ़ें…ये देशी स्टाइल बचाएगा कोरोना से, योगी सरकार ने सभी से की अपील

 

एक बड़े खतरे के संकेत

बीएमसी ने मृतक के 15 हाई रिस्क कॉन्टैक्ट्स का कोरोना टेस्ट करवाया था। निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में करीब 13 हजार लोगों ने हिस्सा लिया था, जिनमें से 1000 से ज्यादा के कोरोना संक्रमित है। मुंबई के धारावी इलाके में अब तक 5 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का मिलना एक बड़े खतरे के संकेत है। यहां हजारों की संख्या में झुग्गियां हैं और करीब 10 लाख लोग यहां रहते हैं। ऐसे में इस इलाके में संक्रमण फैलने का खतरा देखते हुए अधिकारियों के बीच हड़कंप है।