आतंकी जगतार सिंह बरी! पूर्व सीएम बेअंत सिंह का हत्‍यारा व बम ब्‍लास्‍ट का आरोपी

आतंकवाद के दौर में 1995 में घंटाघर के पास हुए बम ब्लास्ट के मामले में आतंकी जगतार सिंह हवारा को नामज़द किया था।1995 में ही आरडीएक्स बरामदगी मामले में भी हवारा को नामज़द किया था। इस मामले की सुनवाई अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अरुण वीर विशिष्ट ने सबूतों के अभाव में पिछले माह ही जगतार सिंह को बरी कर दिया था।

लुधियाना: दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में बंद लुधियान बंम ब्‍लास्‍ट का आरोपी आतंकी जगतार सिंह हवारा को लुधियाना की अतिरिक्‍त सत्र न्यायाधीश अतुल कसाना की अदालत ने बरी कर दिया है।

उल्‍लेखनीय है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या के आरोपी और अन्य मामलो में तिहाड़ जेल मे बंद आतंकी जगतार सिंह हवारा को 24 वर्ष पहले औद्योगिक नगरी लुधियाना के घंटाघर बम ब्लास्ट मामले में बरी कर दिया है।

आतंकवाद के दौर में 1995 में घंटाघर के पास हुए बम ब्लास्ट के मामले में आतंकी जगतार सिंह हवारा को नामज़द किया था।1995 में ही आरडीएक्स बरामदगी मामले में भी हवारा को नामज़द किया था। इस मामले की सुनवाई अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अरुण वीर विशिष्ट ने सबूतों के अभाव में पिछले माह ही जगतार सिंह को बरी कर दिया था।

जबकि बंम ब्लास्ट मामले सुनवाई अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अतुल कसाना की अदालत में चल रही थी। अदालत में पेश हुए 23 गवाहों में से किसी ने भी आरोपी की शिनाख़्त नहीं की थी।

बता दें कि 1995 में हुए बम धमाके में 24 लोग जख्‍मी हो गए थे। इस मामले में थाना कोतवाली पुलिस ने 6 दिसम्बर 1995 हवारा को नामज़द करते हुए 23 दिसम्बर 1995 को गिरफ़्तार किया था।

उस समय पुलिस ने जगतार सिंह की निशानदेही पर कुन्दनपुरी क्षेत्र में बुड्ढे नाले के निकट 5 किलो आरडीएक्स , एक एके 56 राइफल और 60 कारतूस , एक रिमोट कंट्रोल व एक वाकी टाकी वायरलेस सेट की बरामदगी होने का दावा किया था।