पर्सनल लॉ बोर्ड के समर्थन में मुस्लिम महिला, तीन तलाक की हिमायत में निकाला जुलूस

Published by Rishi Published: February 3, 2018 | 8:55 pm
सहारनपुर : आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के आह्वान पर मुस्लिम ख्वातीन ने जुलूस निकाल कर तीन तलाक की हिमायत में सबसे पहले धार्मिक नगरी और फतवों के शहर देवबंद से आवाज बुलंद की है। बुर्कानशीं महिलाओं ने हाथों में तख्ती व बैनर लेकर तीन तलाक की हिमायत में जुलूस निकालते हुए राष्ट्रपति को सम्बोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन स्थानीय अधिकारी को सौंपा।
शनिवार की दोपहर मोहल्ला पठानपूरा स्थित जामिया इलहामिया मदरसतुल बिनात की प्रबंधिका खुर्शीदा खातून के नेतृत्व में बुर्कानशीं महिलाओं ने तीन तलाक की हिमायत में जुलूस निकाला।
जुलूस में शामिल महिलाओं ने हाथों में तख्तिया ले रखी थी जिन लिखा था कि ‘हम कानूने शरीयत के पाबंद हैं’। ‘हम राष्ट्रपति के सम्बोधन की मुखालफत करते हैं’। ‘हम तीन तलाक के खिलाफ बनाए गए बिल को वापस लेने की मांग करते हैं’। ‘तलाक बिल वापस लो वापस लो’। इस्लामी शरीयत हमारा ऐजाज।
जुलूस के उपरांत महिलाओं ने राष्ट्रपति को संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन स्थानीय अधिकारी को सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि मुस्लिम महिलाओं का यह मानना है कि प्रोटेक्शन आॅफ राइट्स इन मैरिज एक्ट 2017 जल्दबाजी में बनाया गया है, इसको बनाते हुए उलेमा या मुस्लिम बुद्धिजीवियों से राय मशवरा भी नहीं किया गया। उच्चतम न्यायालय के 22 अगस्त 2017 के निर्णय के बाद ऐसे बिल की कोई जरूरत ही नहीं थी। यह बिल असल में संविधान व मुस्लिम महिलाओं व उनके बच्चों के खिलाफ है।