×

दिवाली पर नहीं बजेंगे पटाखे: UP में लग सकता है बैन, ये है बड़ी वजह

देश के कई शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने गंभीर रूख दिखाते हुए केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय तथा यूपी समेत 4 राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी कर आगामी 07 से 30 नवंबर तक पटाखों पर प्रतिबंध लगाने को कहा हैै।

Newstrack
Updated on: 3 Nov 2020 4:25 AM GMT
दिवाली पर नहीं बजेंगे पटाखे: UP में लग सकता है बैन, ये है बड़ी वजह
X
दिवाली पर नहीं बजेंगे पटाखे: UP में लग सकता है बैन, ये है बड़ी वजह
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ: इस बार यूपी में दीपावली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लग सकती है। देश के कई शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने गंभीर रूख दिखाते हुए केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय तथा यूपी समेत 4 राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी कर आगामी 07 से 30 नवंबर तक पटाखों पर प्रतिबंध लगाने को कहा हैै। इसके साथ ही एनजीटी ने वरिष्ठ अधिवक्ता राज पंजवानी और शिवानी घोष को इस मामले में सरकारों और पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की मदद के लिए न्याय मित्र के तौर पर नियुक्त किया है।

ये भी पढ़ें: MP उपचुनावः मुरैना में पोलिंग एजेंट से मिलकर लौट रहे 2 लोगों पर अटैक, फायरिंग

एनजीटी ने कही ये बात

एनजीटी ने कहा है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य तथा पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए यह जरूरी है। एनजीटी अध्यक्ष न्यायमूर्ति एके गोयल ने इस संबंध में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ ही यूपी, दिल्ली, हरियाणा तथा राजस्थान सरकार से जवाब तलब किया है। एनजीटी के फरमान के कुछ ही समय बाद राजस्थान सरकार ने राज्य में पटाखों पर प्रतिबंध लगाने का आदेश भी जारी कर दिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजस्थान सरकार ने आगामी 31 दिसंबर तक राज्य में पटाखों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लागू कर दिया है।

इन शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स लगातार हो रहा खराब

बता दें कि दिल्ली-एनसीआर के साथ ही यूपी, हरियाणा और राजस्थान के कई शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स लगातार खराब होता जा रहा है। दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण और इससे कोरोना संक्रमण के बढ़ने के खतरे की संभावना के आधार पर एक संस्था ने एनजीटी के समक्ष एक याचिका दायर की थी। इस याचिका में प्रदूषण से मृत्यु दर बढ़ने की कुछ शोध रिपोर्टों के साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री तथा दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के उन बयानों को भी शामिल किया गया है, जिसमें त्यौहारों के समय में वायु प्रदूषण के कारण दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलें बढ़ने की आशंका व्यक्त की गई थी।

ये भी पढ़ें: UP उपचुनाव: 7 विधानसभा सीटों पर मतदान शुरु, इस दिन आएंगे नतीजे

Newstrack

Newstrack

Next Story