विश्व की अर्थव्यवस्था को प्रभावित करेगा कोरोना वायरस, निर्मला ने बुलाई आपात बैठक

देश के व्यापार और मेक इन इंडिया मुहिम पर कोरोना वायरस के असर को लेकर सरकार मुस्तैद हो गई है। इसके असर और इसके कारण आई रुकावट का आकलन करने के लिए वित्त…

Published by Deepak Raj Published: February 17, 2020 | 5:22 pm
Modified: February 17, 2020 | 5:23 pm

नई दिल्ली।  देश के व्यापार और मेक इन इंडिया मुहिम पर कोरोना वायरस के असर को लेकर सरकार मुस्तैद हो गई है। इसके असर और इसके कारण आई रुकावट का आकलन करने के लिए वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को संबंधित पक्षों की बैठक बुलाई है।

ये भी पढ़ें- जामिया बवाल: छात्र ने मांगे 2 करोड़, कोर्ट ने मोदी सरकार और पुलिस को भेजा नोटिस

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट कर बताया, ‘वित्त मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण से हुए असर, मेक इन इंडिया मुहिम में आए व्यवधान तथा देश के आयात-निर्यात पर पड़े असर का आकलन करने के लिये 18 फरवरी यानी मंगलवार को एक बैठक बुलाई है।

दुनिया के 25 से ज्यादा देशों में अपना पैर पसार लिया है

संबंधित पक्षों का स्वागत है। यदि आप बैठक में नहीं आ सकते हैं तो अपने सुझाव एफएमओ@एनआईसीडॉटइन ([email protected]।in) पर ईमेल करें।’ गौरतलब है कि चीन से शुरू होने वाले कोरोना (COVID-19) ने दुनिया के 25 से ज्यादा देशों में अपना पैर पसार लिया है।

चीन में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या 1700 के पार पहुंच गई है। इस बीच जापान में क्रूज पर फंसे लोगों में 40 अमेरिकी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इस क्रूज पर सवार 3 भारतीय भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं।

दुनिया की इकोनॉमी पर असर

कोरोना के कहर से पूरी दुनिया की इकोनॉमी पर असर पड़ रहा है। आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टलिना जॉर्जीवा ने कहा कि इस साल कोरोना वायरस से फैली महामारी वैश्विक आर्थिक वृद्धि को नुकसान पहुंचा सकती है।

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस: वुहान से आए 406 लोग कल से जाएंगे अपने घर, जांच निकली नेगेटिव

आईएमएफ की प्रबंध निदेशक ने दुबई में ‘ग्लोबल वीमेंस फोरम’ में कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास दर में गिरावट आ सकती है, हमारा अनुमान है कि यह गिरावट 0.1-0.2 प्रतिशत के आसपास होगी।’

जीडीपी ग्रोथ भी होगा प्रभावित

रेटिंग एजेंसी मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने वर्ष 2020 के लिए भारत और चीन के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) ग्रोथ अनुमान को घटा दिया है। मूडीज ने कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में जो सुस्ती आई है, उसकी वजह से भारत के जीडीपी ग्रोथ में तेजी की रफ्तार कम हो सकती है। उसने कहा कि भारत में अब किसी भी तरह के सुधार को उम्मीद से कम ही माना जाना चाहिए।