भारत आये नीरव और माल्या तो इस कोठरी में होंगे कैद

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी और शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने के बाद मुंबई की आर्थर रोड की जेल की एक ही कोठरी में रखा जा सकता है।

नई दिल्ली: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी और शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने के बाद मुंबई की आर्थर रोड की जेल की एक ही कोठरी में रखा जा सकता है। खबरों के अनुसार इस जेल का बैरक नंबर 12 इसके लिए तैयार किया जा रहा है। 20 गुना 15 फुट की एक कोठरी में दोनों को रखा जा सकता है। इस कमरे में पंखे और ट्यूबलाइट लगे हुए हैं। इसके अलावा इसमें साफ पानी, पंखे, टॉयलेट जैसी कई सुविधाएं मिल सकती हैं।

यह भी देेखें… प. बंगाल मुर्शिदाबाद में बम फेंके गए-फायरिंग,TMC नेताओं के तीन रिश्तेदारों की मौत

भारत फिलहाल इन दोनों भगोड़े कारोबारियों को ब्रिटेन से प्रत्यर्पित कर लाने की पूरी कोशिश कर रहा है, जो लंदन में हैं। माल्या तो जमानत पर है, लेकिन नीरव मोदी वहां की एक जेल में बंद है। खबरों के अनुसार, महाराष्ट्र के जेल विभाग ने गृह मंत्रालय को बताया है कि आर्थर रोड जेल में नीरव मोदी को क्या-क्या सहूलियतें मिल सकती हैं। केंद्र सरकार ने भी महाराष्ट्र सरकार से इसकी जानकारी मांगी है।

जेल विभाग ने आश्वस्त किया है कि नीरव मोदी को जिस कोठरी में रखा जाएगा, वहां तीन से ज्यादा कैदी नहीं रहते। बैरक नंबर 12 में दो कमरे हैं जिसमें से एक कमरे में तीन कैदी रखे गए हैं। दूसरा कमरा खाली है। इस कमरे में तीन पंखे, छह ट्यूबलाइट और दो खिड़कियां हैं। अगर नीरव मोदी को यहां रखा गया तो यूरोपीय मानकों के मुताबिक उसे अकेले तीन वर्ग मीटर की जगह दी जा सकती है। उसे एक दरी, तकिया, चादर और कम्बल मिलेगा।

यह भी देेखें… कोलकाता: हड़ताल कर रहे डॉक्टरों की क्या है मांग, किस बात को ठुकराया

इस बैरक की सुरक्षा बहुत तगड़ी है और यहां इसमें प्रताड़ना और दुर्व्यवहार का अभी तक कभी भी कोई मामला सामने नहीं आया है। खबर के अनुसार नीरव मोदी को रोज एक घंटे तक कोठरी से बाहर जाकर योग, मनबहलाव आदि करने की छूट दी जा सकती है। जेल विभाग ने आश्वासन दिया है कि नीरव मोदी को पर्याप्त रोशनी, वेंटिलेशन और व्यक्तिगत सामान रखने की जगह दी जाएगी। उसे हर दिन पीने के लिए साफ पानी, चिकित्सा, टॉयलेट आदि जरूरी सुविधाएं दी जाएंगी।

गौरतलब है कि मुंबई के आर्थर रोड जेल में अंडरवर्ल्ड और आतंकी संगठनों के कई कुख्यात लोग बंद रखे गए हैं। पाकिस्तानी आतंकी अजमल कसाब को भी इसी जेल में रखा गया था। इसके अलावा अबू सलेम, छोटा राजन, मुस्तफा दौसा, पीटर मुखर्जी जैसे हाईप्रोफाइल कैदी यहां सजा काट चुके हैं या काट रहे हैं।