×

नितिन गडकरी ने जारी की राजमार्ग क्षमता नियम पुस्तिका

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 12 Feb 2018 4:11 PM GMT

नितिन गडकरी ने जारी की राजमार्ग क्षमता नियम पुस्तिका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : केंद्रीय परिवहन तथा राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को यहां देश की पहली राजमार्ग क्षमता नियम पुस्तिका 'इंडो-एचसीएम' जारी की। इस पुस्तिका को केंद्रीय सड़क शोध संस्थान (सीआरआरआई) ने तैयार किया है। इस पुस्तिका को सड़कों (एक लेन, दो लेन और बहु लेन), शहरी सड़कों तथा एक्सप्रेस वे पर ट्रैफिक के गुणों का राष्ट्रीय स्तर पर विस्तृत अध्ययन करने के बाद तैयार किया गया है।

इस अवसर पर अपने संबोधन में गडकरी ने कहा कि बहु प्रतीक्षित नियम पुस्तिका देश में सड़क अवसंरचना के विकास तथा योजना निर्माण में सहायता प्रदान करेगी।

उन्होंने वैज्ञानिक समुदाय, डिजाइन बनाने वालों, नीति निर्माताओं तथा राजमार्ग परियोजनाओं से जुड़े लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि अवसंरचना विकास में भारत को जल्द से जल्द विश्व की सबसे आधुनिक तकनीक अपनाने की आवश्यकता है, ताकि हम ऐसी विश्वस्तरीय अवसंरचना का विकास कर सकें, जो सुरक्षित, सस्ती व पर्यावरण अनुकूल हो।

गडकरी ने सड़क निर्माण में फ्लाई एस, प्लास्टिक, ऑयल स्लैग और घरेलू कचरे का उपयोग करने की जरूरत पर जोर दिया।

नियम पुस्तिका में विभिन्न प्रकार की सड़कों तथा चौराहों का विस्तार करने व संचालन करने से संबंधित दिशा-निर्देश दिए गए हैं। नियम पुस्तिका सड़क निर्माण में लगे इंजीनियरों तथा नीति निर्माताओं को मार्गदर्शन प्रदान करेगी। नियम पुस्तिका को तैयार करने में भारतीय सड़कों पर यातायात की विविधता को ध्यान में रखा गया है। अमेरिका, चीन, मलेशिया, इंडोनेशिया, ताइवान जैसे विकसित देशों में राजमार्ग क्षमता नियम पुस्तिका का बहुत पहले से ही उपयोग किया जा रहा है। भारत में पहली बार इस पुस्तिका को विकसित किया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story