×

हिमाचल चुनाव : कद्दावर कांग्रेस नेता विद्या स्टोक्स का नामांकन रद्द

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 24 Oct 2017 3:19 PM GMT

हिमाचल चुनाव : कद्दावर कांग्रेस नेता विद्या स्टोक्स का नामांकन रद्द
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शिमला : हिमाचल प्रदेश की बुजुर्ग महिला नेता विद्या स्टोक्स का नामांकन रद्द हो गया है। विद्या पहले से ही चुनाव लड़ने के मूड में नहीं थी। उनके नामांकन पर बीजेपी और सीपीआईएम ने चुनाव आयोग से अपनी आपत्ति जताई। विद्या पर आरोप था कि उन्होंने फार्म पांच सही से नहीं भरा है। इसके बाद जांच में आरोप सही पाए और उनका नामांकन रद्द कर दिया गया।

ये भी देखें: हिमाचल चुनाव : नेता जो लक्ष्मीदास से बन बैठे लक्ष्मीपति, देखें लिस्ट

क्या सामने आया जांच में

एस.डी.एम. ताशी संडूप ने अपनी जांच में पाया कि कांग्रेस उम्मीदवार विद्या स्टोक्स ने नामांकन के लिए आवश्यक कागजात नहीं जमा करवाए, इसके साथ ही एक ही सिम्बल पर दो नामांकन की भी बात सामने आई। दस्तावेजों की जांच के बाद नामांकन रद्द कर दिया गया है।

कहां हुई गलती

नामांकन के अंतिम दिन विद्या और एक अन्य कांग्रेस नेता दीपक राठौड़ ने पंजे निशान पर नामांकन पत्र भरा था। विद्या के पास जो अधिकृत पत्र था। वो प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने जारी किया था। जबकि वो इसके लिए अधिकृत ही नहीं थे। पार्टी ने उम्मीदवारों को अधिकृत पत्र देने के लिए आस्कर फर्नाडिस को जिम्मेदारी दी थी।

इसके साथ ही बीजेपी और माकपा ने अपनी शिकायत में आयोग से कहा कि एक ही पार्टी से 2 उम्मीदवारों ने नामंकन किया है। जो नियम विरुद्ध है। इसके साथ विद्या ने आवश्यक कागजात भी सही से जमा नहीं किये थे।

आपको बता दें, पार्टी ने इस विधानसभा से दीपक राठौड़ को अपना उम्मीदवार बनाया था। जिससे विद्या नाराज थीं। पहले जब ठियोग से सीएम वीरभद्र सिंह का नाम उम्मीदवार के लिए चल रहा था। तो विद्या को कोई नाराजगी नहीं थी। लेकिन जब वीरभद्र ने अर्की से चुनाव लडऩे का ऐलान किया। तो विद्या ने अपने लिए टिकट मांगा। लेकिन पार्टी ने दीपक को उम्मीदवार बनाने का ऐलान कर दिया। इसके बाद विद्या पार्टी पर दबाव बनाने लगीं और इसके बाद जो कुछ हुआ वो तो आपको पता ही है। लेकिन आज जो कुछ भी हुआ उससे पार्टी की साख को धक्का तो लगा ही साथ ही विरोधियों को बैठे बिठाए एक मौका भी मिल गया।

पार्टी अध्यक्ष सुखविन्दर सिंह सुक्खू भी सवालों के घेरे में हैं, कि जब वो किसी को उम्मीदवार घोषित ही नहीं कर सकते थे। तो उन्होंने विद्या को पार्टी उम्मीदवार कैसे घोषित कर दिया।

दीपक हैं ठियोग से कांग्रेस प्रत्याशी

ठियोग सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर उतरे दीपक ही चुनाव लड़ेंगे। दीपक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं। सूत्रों के मुताबिक दीपक के लिए वोट की गुहार लगाने राहुल गांधी ठियोग रैली कर सकते हैं। अब देखना ये होगा कि दीपक की उम्मीदवारी का विरोध करने वाली स्टोक्स चुनाव में उनकी मदद करती हैं। या फिर बगावत का झंडा उठा लेती हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story