NSA अजित डोभाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों का लिया जायजा, लोगों ने कही ऐसी बात

देश की राजधानी दिल्ली का नार्थ-ईस्ट इलाका पिछले चार दिनों से हिंसाग्रस्त है। मंगलवार को हालात बेकाबू होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को हालात संभालने का आदेश दिया।

Published by Aditya Mishra Published: February 26, 2020 | 9:24 pm

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली का नार्थ-ईस्ट इलाका पिछले चार दिनों से हिंसाग्रस्त है। मंगलवार को हालात बेकाबू होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को हालात संभालने का आदेश दिया। आदेश मिलते ही अजीत डोभाल ने पहले दिल्ली पुलिस के आला अफसरों के साथ बैठक कर सारी बातें समझे।

इसके बाद हिंसाग्रस्त इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैना कर दिया गया। हालात जब थोड़े होने लगे तो अजीत डोभाल भयभीत जनता में भरोसा जगाने के लिए खुद हिंसाग्रस्त इलाके की सड़कों पर घूमने निकल पड़े।

घोंडा इलाके में पहुंचे डोभाल ने लोगों के घरों को नॉक कर उन्हें बाहर आने को कहा फिर वे उनसे बताते दिखे कि आप लोगों को अब कोई दिक्कत नहीं होगी। आपकी सुरक्षा में भारी संख्या में पुलिस बल तैना कर दिया गया है।

डोभाल को देखकर भयभीत जनता के चहरे पर थोड़ी राहत देखने को मिली। कई जगहों पर तो लोगों ने उत्साह जताने के लिए भारत माता की जय के नारे लगाए। एनएसए लोगों से कहते दिखे कि हम सब भारतीय हैं। हमें आपसी बैर नहीं रखना है। यह देश हमारा है इसलिए हम सबको इसे संभालना है।

दिल्ली हिंसा पर HC की टिप्पणी- इस शहर में एक और 1984 की इजाजत नहीं दे सकते

अमेरिका में दिल्ली हिंसा की निंदा, कहा- ऐसे कानून को बढ़ावा नहीं देना चाहिए जो….

‘हरेक को भाईचारे के साथ रहना चाहिए’

डोभाल ने कहा कि लोगों में एकता की भावना है। कुछ क्रिमिनल्स इस तरह की चीजें करते हैं, लोग उन्हें अलग-थलग करने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस यहां है और अपना काम कर रही है। हम यहां गृह मंत्री और प्रधानमंत्री के आदेश पर आए हैं।

इंशाअल्लाह! यहां पर बिल्कुल अमन होगा। मेरा संदेश लोगों को यही है कि हर कोई जो अपने देश से प्यार करता है, अपने समाज और पड़ोसी से भी प्यार करता है। हर किसी को दूसरों के साथ प्यार और भाईचारे के साथ रहना चाहिए। लोगों को एक दूसरे की समस्याएं सुलझाने की कोशिश करनी चाहिए, उन्हें बढ़ाने की नहीं।

दिल्ली हिंसा पर बड़ा खुलासा: IB अफसर की हत्या में इस AAP नेता का हाथ!

लोगों ने सुनाया अपना दुख-दर्द

डोभाल के सामने आकर लोगों ने अपना दुख-दर्द बयां किया। कोई कह रहा था कि उसकी दुकान जल गई तो कोई कह रहा था कि उसके अपने को गंभीर चोट आई है। एनएसए सभी के कंधे पर हाथ रखकर ढांढस बंधाते हुए दिखे।

एनएसए ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे पीएम मोदी और गृह मंत्रालय के आदेश पर आए हैं। उन्होंने कहा कि समाज में ज्यादातर अच्छे लोग होते हैं। 10-20 आधराधिक प्रवृति के लोग होते हैं वहीं माहौल को खराब करते हैं। अब दिल्ली की जनता को टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। पर्याप्त संख्या में हिंसाग्रस्त इलाकों में सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए गए हैं।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App