×

प्याज मिलेगा सस्ता: कीमतें हो गई कम, जारी हुआ ये बड़ा आदेश

पिछले साल एमएमटीसी ने तुर्की और मिस्र से सीधे पीले, गुलाबी और लाल प्याज का आयात किया था, जबकि इस साल कम से कम समय में अच्छी गुणवत्ता वाले प्याज की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए निजी आयातकों को आपूर्ति करने की पेशकश की गई है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 6 Nov 2020 9:43 AM GMT

प्याज मिलेगा सस्ता: कीमतें हो गई कम, जारी हुआ ये बड़ा आदेश
X
प्याज मिलेगा सस्ता: कीमतें हो गई कम, जारी हुआ ये बड़ा आदेश
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: प्याज के बिना सब्जी फीकी पड़ जाती है। बाजार में सस्ते प्याज उपलब्ध कराने के लिए सहकारी संस्था नेफेड ने शुक्रवार को कहा कि उसने 15,000 टन आयातित प्याज की आपूर्ति के लिए आदेश जारी किए हैं और इस संबंध में बोलीदाताओं को अंतिम रूप दे दिया गया है। नेफेड ने बताया कि इससे घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ेगी और कीमतें काबू में रहेंगी।

राज्य सरकारों से पूछा गया कितनी प्याज चाहिए?

नेफेड ने बताया कि आयातित प्याज बंदरगाह शहरों से वितरित किया जाएगा, इसलिए तेजी से आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों से पूछा गया है कि उन्हें कितनी मात्रा में प्याज चाहिए। नेफेड ने आयातित प्याज की अतिरिक्त आपूर्ति के लिए नियमित निविदा जारी करने की योजना बनाई है।

onion will cheaper-2

बाजार में समय पर प्याज की आपूर्ति होगी

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि "कल (गुरुवार) नेफेड को तूतीकोरिन और मुंबई में आपूर्ति के लिए जारी निविदाओं के लिए अच्छी प्रतिक्रिया मिली। नेफेड ने कल शाम ही सफल बोलीदाताओं को अंतिम रूप दे दिया, ताकि बाजार में समय पर आपूर्ति हो सके।" नेफेड ने कहा कि इस बार उसने प्याज की गुणवत्ता और आकार पर खासतौर से जोर दिया है, जो भारतीय उपभोक्ताओं की पसंद से मेल खाता हो। गौरतलब है कि भारत में आमतौर पर मध्यम आकार के प्याज को पसंद किया जाता है, जबकि विदेशी प्याज आकार में 80 मिमी तक बड़े होते हैं।



ये भी देखें: रेलवे का बड़ा ऐलान: फेस्टिव सीजन में यात्रियों को खास तोहफा, ऐसे उठाएं लाभ

अच्छी गुणवत्ता वाले प्याज की आपूर्ति सुनिश्चित

पिछले साल एमएमटीसी ने तुर्की और मिस्र से सीधे पीले, गुलाबी और लाल प्याज का आयात किया था, जबकि इस साल कम से कम समय में अच्छी गुणवत्ता वाले प्याज की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए निजी आयातकों को आपूर्ति करने की पेशकश की गई है। नेफेड ने कहा कि इस बीच प्याज की थोक और खुदरा कीमतों में लगातार गिरावट देखी जा रही है।

onion will cheaper- nafed 3

ये भी देखें: जारी हुआ हज एक्शन प्लान: कल से भरे आवेदन फार्म, 26 जून को पहली उड़ान

प्याज की खुदरा कीमतें 80-100 रुपये प्रति किलो

नेफेड ने उम्मीद जताई कि सरकार के नीतिगत हस्तक्षेप और बफर, आयात तथा नई आवक से आपूर्ति में तेजी होगी और प्याज का बाजार जल्द ही सामान्य हो जाएगा। मंड़ी भाव के अनुसार देश के कुछ हिस्सों में प्याज की खुदरा कीमतें 80-100 रुपये प्रति किलोग्राम तक हैं। महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान और अन्य राज्यों से रबी (सर्दी) के पुराने स्टॉक और खरीफ (गर्मी) के नए स्टॉक की आवक से प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगा है।

Newstrack

Newstrack

Next Story