Top

विपक्षी गठबंधन मेरे खिलाफ नहीं, बल्कि देश के लोगों के खिलाफः मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विरोधी दलों को मानव विरोधी बताया है। मोदी ने कहा कि विपक्षी गठबंधन मेरे खिलाफ नहीं, बल्कि यह देश के लोगों के खिलाफ हैं। उन्होंने व्यंग्य किया,  'अभी तो ये सही से इकट्ठी भी नहीं हुए हैं, लेकिन उससे पहले ही ये सीट बंटवारे को लेकर मोल-भाव में लग गए हैं। ये खुद को बचाने के लिए समर्थन मांग रहे हैं, लेकिन मुझे देश को आगे ले जाने के लिए आपका समर्थन चाहिए।'  

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 19 Jan 2019 12:11 PM GMT

विपक्षी गठबंधन मेरे खिलाफ नहीं, बल्कि देश के लोगों के खिलाफः मोदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सिलवासाः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विरोधी दलों को मानव विरोधी बताया है। मोदी ने कहा कि विपक्षी गठबंधन मेरे खिलाफ नहीं, बल्कि यह देश के लोगों के खिलाफ हैं। उन्होंने व्यंग्य किया, 'अभी तो ये सही से इकट्ठी भी नहीं हुए हैं, लेकिन उससे पहले ही ये सीट बंटवारे को लेकर मोल-भाव में लग गए हैं। ये खुद को बचाने के लिए समर्थन मांग रहे हैं, लेकिन मुझे देश को आगे ले जाने के लिए आपका समर्थन चाहिए।'

गुजरात: इंडियन आर्मी K9 टैंक पर सवार होकर निकले पीएम मोदी, अंदाज हो रहा वायरल

पीएम ने कहा कि हम देश के विकास के लिए काम करते हैं। परिवार के विकास की न तो हमारी नीति है और न इरादा है। यही साफ नीयत और स्पष्ट नीति इनको खटक रही है। इनको तकलीफ हो रही है। इन्हें दिक्कत है कि मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ इतनी कड़ी कार्रवाई क्यों कर रहा है।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में शनिवार को जब विपक्षी दल एक साथ सियासी मंच साझा कर रहे थे, तब पीएम मोदी दादरा एवं नगर हवेली की राजधानी सिलवासा में विरोधियों को करारा जवाब दे रहे थे। मोदी ने सिलवासा में एक मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया।

राहुल की ममता दीदी को चिट्ठी, मोदी सरकार के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे लड़ाई

मोदी ने इस अवसर पर जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा, 'ये तानाशाही नहीं... पश्चिम बंगाल हो केरल हो डगर-डगर पर जुल्मशाही है। जिस पश्चिम बंगाल में राजनीतिक दल को उसका कार्यक्रम करने के लिए रोक लगा दी जाती है। हर प्रकार की अलोकतांत्रिक प्रक्रियाएं की जाती हों। लोकतंत्र का गला घोट दिया जाता हो। ये वहां इकट्ठा कर लोकतंत्र को बचाने का भाषण देते हैं। मुझे इतना ही कहना है कि पंचायत के चुनाव में नामांकन करने वालों को मौत के घाट उतारने वाले जब लोकतंत्र बचाने की बात करते हैं तो देश के मुंह से निकलता है, वाह क्या सीन है।

मोदी ने कहा 'हमारी सरकार द्वारा जितनी भी योजनाएं चलाई जा रही हैं उनके मूल में सबका साथ और सबका विकास है जबकि जिस दल ने दशकों तक देश में सरकार चलाई वो हर काम में अपनी या अपने परिवार की संभावनाएं देखता था। यही कारण है कि वहां काम से ज्यादा नाम पर जोर दिया गया।'

राम केवी

राम केवी

Next Story